>

 विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय के अधीन कार्यरत ईएसएससीआई-इलेक्ट्रॉनिक्स सेक्टर स्किल्स काउंसिल ऑफ इंडिया ने इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स के जॉब रोल में छात्रों को प्रशिक्षित करने और पाठ्यक्रम विकसित करने के लिए एनसीवीईटी-राष्ट्रीय व्यावसायिक शिक्षा और प्रशिक्षण परिषद के साथ हाथ मिलाया है। इस करार से इलेक्ट्रॉनिक्स से संबंधित पाठ्यक्रमों को देशभर में चलाने में मदद मिलेगी और युवाओं को इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए प्रशिक्षण हासिल करने में आसानी होगी। वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में एनसीवीईटी सचिव कर्नल संतोष कुमार और ईएसएससीआई की चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर डॉ अभिलाषा गौड़ के बीच एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। समझौता ज्ञापन के तहत ईएसएससीआई योग्यता आधारित पाठ्यक्रमपाठ्य सामग्री और अन्य संसाधन सामग्री विकसित करेगा जिसके लिए इसे मान्यता प्राप्त है। यह एनसीवीईटी को आवश्यक अनुमोदन के लिए नई/संशोधित पाठ्यक्रम भी विकसित करके देगा। इस पहल की सराहना करते हुएडॉ अभिलाषा गौड़ ने कहा किएनसीवीईटी के साथ यह सहयोग भारत में व्यावसायिक शिक्षा के निर्माण में एक मील का पत्थर साबित हो सकता है। इलेक्ट्रॉनिक्स के क्षेत्र में कौशल शिक्षण के रूप में ईएसएससीआई ने अपनी पहचान बनाई है और यह समझौता ज्ञापन छात्रों के लिए व्यावसायिक पाठ्यक्रमों की एक श्रृंखला का मार्ग प्रशस्त करेगा और युवाओं को इलेक्ट्रॉनिक्स उद्योग के लिए तैयार करेगी। हम इस साझेदारी को प्रोत्साहित करने के लिए एनसीवीईटी के आभारी हैं और इस निकाय के साथ काम करने और व्यावहारिक ज्ञाननवाचार और स्थिरता का एक पारिस्थितिकी तंत्र विकसित करने के लिए तत्पर हैं।समझौता ज्ञापन संयुक्त रूप से छात्रोंयुवाओंकामगारों के लिए कौशल विकास और क्षमता निर्माण पर फोकस करेगा। संयुक्त तौर पर आरपीएलफ्रेश स्किलिंगरी-स्किलिंग और अप-स्किलिंग के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक्स के लिए स्किलिंग इकोसिस्टम और कुशल जनशक्ति का समग्र विकास होगा।