>

संपूर्ण उत्तर प्रदेश में एकेटीयू के तहत आने वाले सभी शिक्षण संस्थानों में सिर्फ जीएल बजाज ही सरवर को लगाने वाला अकेला संस्थान होगाः पंकज अग्रवाल

>
>

 

मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/ग्रेटर नोएडा

ग्रेटर नोएडा के जीएल बजाज इंजिनियरिंग कॉलेज में इसरो के एक्स चेयरमैन डा0 के. सिवन एनवीडिया एआई लर्निंग एंड रिसर्च सेंटर का उद्घाटन करेंगे। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन के क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं। एआई तेजी से अपने पांव पसार रहा है। दिनांक 06 जून-2022, सोमवार को प्रेस कान्फ्रेस आयोजित कर जीएल बजाज इंस्टीट्यूटस के वाइस चयरेमैन पंकज अग्रवाल ने कहा कि एआई के क्षेत्र में ट्रेनिंग देने के लिए इस सेंटर की स्थापना की  गई है ताकि छात्र आने वाली भविष्य का सभावनाओं का पूरा फायदा उठा सकें। सेंटर का उद्घाटन आगामी 8 जून-2022 को इसरो के एक्स चेयरमैन डा0 के. सिवन करेंगे। इसके लिए बाकायदा एक्स चेयरमैन डा0 के. सिवन ने अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है। उन्होंने कहा कि संपूर्ण उत्तर प्रदेश में एकेटीयू के तहत आने वाले सभी शिक्षण संस्थानों में सिर्फ जीएल बजाज ही सरवर को लगाने का अकेला संस्थान होगा।

>

>

इस सरवर की कीमत करीब 2 करोड है तथा दुनिया की जाने मानी यूनिवर्सिटी जैसे कि यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो, एमआईटी यूनिवर्सिटी आदि में छात्र इस सरवर पर ट्रेनिंग ले रहे हैं। साथ ही निदेशक मानस कुमार मिश्रा ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि एनवीडीया टेक्नोलॉजी क्षेत्र में अग्रणी उत्पादक कंपनी है तथा टेक्नोलॉजी की दुनिया में अपना एक विशिष्ठ स्थान रखती है। जीएल बजाज में एनवीडीया का डीजीएक्स-ए-100 सरवर स्थापित किया जा रहा है। इस सरवर की क्षमता के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि सरवर आम सरवर के मुकाबले ढाई सौ ज्यादा ताकत रखता है, इसलिए यह सुपर कंप्यूटर है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में एआई यानी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस  का क्षेत्र संभावनाओं से भरा हुआ है और इसके लिए जरूरी है कि एआई इंन्फ्रास्ट्रक्चर कॉलेज तैयार किया जाए। इसी दिशा में जीएल बजाज ने पहला कदम बढाते हुए इस सेंटर की स्थापना की है। उन्होंने कहा कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस  का उद्देश्य आमजन के जीवन का उन्नत बनाना है। एआई का सेंटर एआई तथा मशीन लर्निंग के क्षेत्रमें छात्रों को ट्रेनिंग देगा ताकि छात्र मेडिकल, कार मैन्युफैक्चरिंग, डिफेंस आदि क्षेत्रों में अपना योगदान दे सकें।