>

विजन लाइव/ बीटा-2

गौतमबुद्धनगर के थाना बीटा 2 पुलिस ने हनी ट्रैप के जाल में फँसाकर 2,85000 रूपये वसूलने व 12 लाख रूपये की अतिरिक्त माँग करने वाले गिरोह के तीन सदस्य  नीरज देवी पत्नी सतीश पुत्री महेन्द्र सिंह निवासी ग्राम वैना थाना टप्पल अलीगढ व दो सह अभियुक्त  भरत पुत्र बलवीर निवासी ग्राम गोविन्दगढ थाना जेवर जनपद गौतमबुद्धनगर, प्रशान्त कुमार पुत्र राजकुमार थाना रबुपुरा जनपद गौतमबुद्धनगर को हड़पे गये 50000 रूपये के साथ परिचौक के पास से गिरफ्तार किया गया है। गौरतलब है कि दिनांक 10-03-2022 को उच्चाधिकारियो को एक प्रार्थना पत्र नीरज देवी उर्फ रिया उर्फ नैना चौधरी पत्नी सतीश निवासी ग्राम वैना थाना टप्पल अलीगढ के द्वारा स्वंय के साथ बलात्कार के संबंध में दिया गया जिसकी जांच थाना बीटा.2 पुलिस द्वारा की गयी। जांच के दौरान पाया गया कि अभियुक्ता नीरज देवी उपरोक्त को पैसो की जरूरत थी। जिस पर अभियुक्ता ने अपने सहअभियुक्त देवेन्द्र के  साथ मिलकर अपराधिक षड़यन्त्र करीब दिसंबर माह पूर्व में वादी मुकदमा का नम्बर अभियुक्ता को देकर वादी को बात कर बुलाने के लिए कहा जिस पर वादी मुकदमा दिनांक 08-02-2022 को अभियुक्ता के बुलाने पर परी चौक पर आया एवं अभियुक्ता वादी की क्रेटा कार में बैठकर वृंदावन मथुरा घूमकर रात के 10.00 के करीब लौट कर ग्रेटर नोएडा आयी एवं वादी मुकदमा को देरी की बात कहकर डेल्टा.2 में ओयो होटल में ले जाकर योजनानुसार अपने सहअभियुक्तो को होटल में बुलाकर वादी की वीडियो बनाकर मारपीट कर डरा धमकाकर उसी की क्रेटा कार से होटल से निकालकर रात्रि 03.00 बजे मथुरा वृंदावन वापस ले जाकर अभियुक्ता नीरज का फर्जी पति मथुरा में मिला तथा पति की तरफ से दबाब बनाकर सभी अभियुक्तों द्वारा वादी से कुल 15 लाख में सौदा तय हुआ जिसमे से 02 लाख रूपये नकद और 85000 रूपये एटीएम व पेटीएम के माध्यम से वसूल कर बाकी के बचे हुये अतिरिक्त 12 लाख रूपये की  मांग लगातार महिला व उसके अन्य सहअभियुक्त गण देवेन्द्र, प्रशांत, भरत, मिन्टू व पांचाल एडवोकेटके द्वारा लगातार की जा रही थी व वादी को रेप के केस में फसाने की धमकी देकर प्रार्थना पत्र दिये जा रहे थे। जांच के दौरान उक्त प्रकरण में पीडित  की तरफ से मुकदमा पंजीकृत किया गया व महिला नीरज उर्फ रिया उर्फ नैना चौधरी को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में खुलासा होने पर अन्य अभियुक्त भरत चौधरी व प्रशांत चौधरी को गिरफ्तार किया गया। इनके कब्जे से 50000 रूपये की नगदी बरामद हुई है। शेष रूपये अन्य साथियों में बाटना व खर्च करना बताया गया। पुलिस ने बताया कि मास्टर माइंड देवेन्द्र चौधरी समेत अन्य तीन व्यक्ति फरार चल रहे है और जिनको शीघ्र ही गिरप्तार किया जा सकेगा। अभियुक्तों द्वारा पूछताछ में यह भी बताया कि पीडित की होटल में बनाई विडियो देवेन्द्र के मोबाइल फोन में ही सेव है, जिसको अभियुक्ता व अन्य साथी वायरल करने की लगातार धमकी भी दे रहे थे।