किसानों की फसलों को भूखे और छुट्टे पशु खा रहे हैं और यह बेचारे पशु खाएं क्यों नही सरकार आखिर इनके पेट भरने का इंतजाम करती क्यों नही

 



 

गौ सेवा सदन स्थापित करें और सरकारी खर्च पर इन बेजुबानों का पेट भर कम से कम इंसानियत का फर्ज को निभाना ही चाहिए। खाली गौ माता गौ माता से काम नही चलेगा


 


चौधरी शौकत अली चेची


---------------------------- सभी देशवासी ध्यान दें 2014 से पहले और अब जनता के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। डीजल, पेट्रोल  महंगा, बिजली घरेलू 3.60 पैसे यूनिट थी अब 7 से ऊपर है, ट्यूबेल एक महीना का रेंट 700 था अब 1900 रुपए से ऊपर है। सीमेंट बैग 180 था अब 360 है,स्टील 3200 था अब 6200 है। रेत की ट्रॉली 1500 थी अब 6000 है, रोड़ी बदरपुर 32 रूपये फुट था अब  रूपये 70 फुट है, टैक्स 12 प्रतिशत था अब 18 प्रतिशत है तथा जीएसटी लगाकर 4 जोनो में बांट दिया। मोटरसाइकिल की कीमत 50,000 रुपये थी अब 90,000 रुपये है,मेडिक्लेम बीमा 1049 में 100000 था अब 4100 में 100000 मिलते हैं। टीवी रिचार्ज  110 था अब 360 है, जिसमें चैनलों को 3 जोनों में बांटकर श्रोताओं को बहुत से चैनलों को देखने से वंचित कर दिया। गैस सिलेंडर 390 था अब 900 है। 250 की गैस सब्सिडी समाप्त कर दी, यातायात के नियमों के उल्लंघन पर 100 या 500 जुर्माना था, अब 10,000 से ऊपर जुर्माने की कोई लिमिट नहीं। खबरों की मानें तो मोदी सरकार आने से पहले देश पर 52 लाख करोड रुपए कर्ज़ था, अब 144 लाख करोड़ रुपए बताया जा रहा है। वर्ल्ड बैंक ने भारत को विकासशील देश की श्रेणी से हटाकर निचले स्तर की तीसरी श्रेणी में कर दिया है। देश 160 वें गरीब देशों की श्रेणी में हो गया है। जीडीपी .7. 4 में चली गई। ड्राइविंग लाइसेंस 250 रुपए में बनता था अब 5500 में,ं घरेलू असलहा का रिन्यूल 1000 में होता था अब 6000 में होता है। 22 करोड़ परिवार गरीबी रेखा से नीचे थे, अब 35 करोड़ परिवार गरीबी रेखा से नीचे पहुंच गए। रेलवे प्लेटफॉर्म टिकट 5 रूपये था अब 50 है, पैसेंजर व सामान किराया  10 था अब 40 है। मिट्टी का तेल 20 रूपये लीटर था अब 60 रूपये प्रति लीटर है और बहुत सी जगह तो मिलना ही बंद हो गया है। मोबाइल इनकमिंग फ्री था, इनकमिंग जारी रखने के लिए 89 का रिचार्ज कराना पड़ता है। एटीएम या बैंक से पैसे निकालना फ्री था, अब 3 बार से ज्यादा निकालने पर 100 से ऊपर का चार्ज देना पड़ता है। सकल घरेलू उत्पाद 11 प्रतिशत था अब  24 प्रतिशत,ः बेरोजगारी दर 2 प्रतिशत थी, अब 14 प्रतिशत से ऊपर है। लगभग 25 करोड़ बेरोजगार हो गए, 44 श्रम कानून थे, अब 9 रह गए हैं। कोई बड़ा अस्पताल नहीं बना हैं, रॉबर्ट वाड्रा जेल नहीं गया, भारत विश्व गुरु बना नहीं, 15 लाख किसी को मिले नहीं, दाऊद, नीरव मोदी, मेहुल चौकसी, विजय माल्या किसी भी भगोड़े को पकड़ कर नहीं लाया गया, बल्कि अपने दोस्तों का कर्ज लाखों करोड़ रुपए माफ कर दिया। गंगा साफ हुई नहीं, महिलाओं पर अत्याचार रुका नहीं,  बुलेट ट्रेन चली नहीं, स्मार्ट सिटी कोई बनी नहीं, आतंकवादी घटनाएं रुकी नहीं,मुद्रास्फीति कम नहीं हुई, गोद लिए गांव अभी भी घुटनों पर नहीं चल सके हैं। पेट्रोल, डीजल 35 लीटर हुआ नहीं, विदेशों से 32 लीटर खरीदा जा रहा है। किसान की आय दुगनी हुई नही, किसानों व पशुओं को एक दूसरे का दुश्मन बना दिया क्योंकि किसानों की फसलों को भूखे और छुट्टे पशु खा रहे हैं और यह बेचारे पशु खाएं क्यों नही सरकार आखिर इनके पेट भरने का इंतजाम करती क्यों नही, क्या पवित्र और पूज्य गौ माता इत्यादि से ही काम चल आएगा। यूपी में गौमाता के भक्त योगी हैं फिर भूखी और प्यासी गाएं जो चारे और पानी के लिए सडकों पर मारी मारी फिरती हैं, इसलिए यूपी सरकार को चाहिए प्रत्येक जिले में गौ सेवा सदन स्थापित करें और सरकारी खर्च पर इन बेजुबानों का पेट भर कम से कम इंसानियत का फर्ज को निभाना ही चाहिए। खाली गौ माता गौ माता से काम नही चलेगा, क्या यूपी की योगी सरकार गाय की सेवा को स्लोगन बनाकर नही चल रही है? कश्मीरी पंडित अपने घर लौटे नहीं, स्टार्टअप, इंडिया मेक इन इंडिया, स्किल इंडिया, डिजिटल इंडिया खुली आंखों के सपने चकनाचूर हो गए। 56 इंची सीना, लाल आंखों से चीन, पाकिस्तान नेपाल डरे नहीं उल्टा यह देश गुर्रा रहे हैं। डॉलर 75 पार, आरक्षण ढूंढे से नहीं मिलता, गरीब, असहाय, मजदूर, मजलूम पर अत्याचार 200 प्रतिशत बढ़ गया। सीमा पर जवानों की शहादत, किसानों, बेरोजगारों की आत्महत्या कई गुन हो गई। चौकीदार द्वारा 18 .18 घंटे काम कर पूर्वजों की गाढ़ी कमाई, सरकारी संस्थाओं को लगातार बेचा जा रहा है और उनके नाम बदले जा रहे हैं जो करे सच्चाई उजागर या जायज हक की मांग, उठाएं वह अपराधी, आतंकवादी, अलगाववादी, नक्सलवादी, पाकिस्तानी, खालिस्तानी, मवाली बन जाता है। 7 साल बीत गए बीजेपी सरकार गोदी मीडिया अंध भक्तों की नजरों में सब चंगा सी। जय जवान, जय किसान, जय हिंद, मेरा भारत है महान।

लेखकः. चौधरी शौकत अली चेची भारतीय किसान यूनियन ( बलराज) के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष  हैं।