गौतमबुद्धनगर भाजपा जिलाध्यक्ष विजय भाटी ने दादरी और जेवर ब्लाक से प्रमुख पद के उम्मीदवारों पर अपनी मुहर लगाई

 


     


 

दनकौर ब्लाक के आसित्व को समाप्त कर योगी सरकार ने लोकतंत्र की हत्या कीः मनोज चौधरी

 




मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/गौतमबुद्धनगर

----------------------------------------------- गौतमबुद्धनगर भाजपा ने जिलापंचायत चुनाव में परचम लहराने के बाद अब ब्लाक प्रमुख चुनावों के लिए कमर कस ली है। जिले के तीन बचे ब्लाकों में से भाजपा ने सिर्फ 2 ब्लाकों पर ही अपने प्रत्याशी घोषित किए गए हैं। उत्तर प्रदेश के शो विंडो माने जाने वाली गौतमबुद्धनगर में औद्योगिक टाउनशिप के चलते हुए ग्राम पंचायतों के साथ  ब्लाक सदस्यों की संख्या पर काफी फर्क पडा था। नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना अथॉरिटी के अधिसूचित गांवों में ग्राम पंचायत और क्षेत्र पंचायतों का आसित्व समाप्त हो चला है। यही कारण है कि पिछली के कार्यकाल में संपन्न हुए चुनाव अंसवैधानिक घोषित किए चुके थे। इस बार चुनाव संपन्न हुए मगर नए परिसीमन के अनुसार दादरी, जेवर और कुछ दनकौर क्षेत्र के गांवों में ही चुनावी ंडका बजा। इनमें गौतमबुद्धनगर भाजपा ने यहां की 5 सदस्यी जिला पंचायत में 3 जिला पंचायत सदस्यों को जीत दिला कर जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर भी कब्जा कर लिया। गौतमबुद्धनगर जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर भाजपा के अमित चौधरी हाल में ही निर्विरोध चुने गए हैं। जिला पंचायत चुनाव में जीत से उत्साहित भाजपा ने अब ब्लाक प्रमुख चुनाव के लिए भी कमर कस ली है। गौतमबुद्धनगर भाजपा जिलाध्यक्ष विजय भाटी ने बुधवार को दादरी और जेवर ब्लाक से प्रमुख पद के उम्मीदवारों पर अपनी मुहर लगा दी हैं। इनमें जेवर ब्लाक प्रमुख अनुसूचित जाति महिला के आरक्षित है जहां से भाजपा ने श्रीमती मुन्नी देवी को अपना उम्मीदवार बनाया है। जेवर ब्लाक प्रमुख पद उम्मीदवार मुन्नी देवी को जेवर विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह का वरदहस्त प्राप्त है। बताया गया है कि मुन्नी देवी खुर्जा से कांग्रेस विधायक रहे बंशी सिंह पहाडिया की भाभी हैं। जेवर ब्लाक में क्षेत्र पंचायत सदस्यों की संख्या कुल 42 है। वहीं दादरी में ब्लाक प्रमुख पद अनारक्षित है, यहां से बिजेंद्र भाटी को अपना उम्मीदवार बनाया है। चिटहेरा गांव के रहने वाले बिजेंद्र भाटी पहले भी ब्लाक प्रमुख पद रह चुके हैं। यही नही बिजेंद्र भाटी के पिता रामचंद्र भाटी भी दादरी के ब्लाक प्रमुख रह चुके हैं। बिजेंद्र भाटी कुछ दिन पहले ही पाला बदल कर भाजपा में आए हैं। राज्य सभा सभा सदस्य सुरेंद्र नागर के बिजेंद्र भाटी बेहद करीबी माने जाते हैं। दादरी ब्लाक में क्षेत्र पंचायत सदस्यों की संख्या कुल 47 है। इनमें बिजेंद्र भाटी की पत्नी निशा भाटी भी क्षेत्र पंचायत सदस्य है। जब कि बिसरख ब्लाक में प्रमुख पद से भाजपा ने एक तरह से किनारा ही कर लिया है और अभी तक यहां पर कोई उम्मीदवार घोषित नही किया हैं। बताया यह भी गया है कि यहां पर पार्टी के अलग अलग खेमों ने उम्मीदवारी की खींचतान चल रही है। सूत्रों की मानें तो भाजपा का एक धडा ब्लाक प्रमुख रह चुके ध्यान सिंह भाटी की पुत्र वधू रूचि को चुनाव लडने के लिए ताल ठोके हुए है। जब कि दूसरा धडा दुजाना गांव के पूर्व प्रधान ओमपाल नागर की पत्नी को चुनाव लडाने की बात कह रहा है। इस मुद्दे को सुलझाने के लिए कई दिनों ने कई दौर की बैठकें भी हो चुकी है मगर कोई समाधान नही निकल पाया है। बताया गया है कि यह दोनों ही उम्मीदवार चुनाव मैदान में होंगे और जो भी चुनाव जीतेगा वहीं भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर लेगा। अब बात यदि दनकौर ब्लाक की करें तो चुनावों से पहले ही दनकौर ब्लाक को यूपी की योगी सरकार ने खत्म कर दिया था। दनकौर ब्लाक के कुछ चुनिदां गांवों को जेवर ब्लाक में शामिल किया जा चुका है। दनकौर क्षेत्र के इन गांवों को जेवर ब्लाक में शामिल किए जाने से क्षेत्रीय जनता में गहरी नाराजगी भी बनी हुई है। गौतमबुद्धनगर कांग्रेस जिलाध्यक्ष मनोज चौधरी कहते हैं कि दनकौर गौतमबुद्धनगर का सबसे पुराना और बडा ब्लाक हुआ करता था। दनकौर ब्लाक के आसित्व को समाप्त कर योगी सरकार ने लोकतंत्र की हत्या की है, आने वाले  विधानसभा चुनावों में जनता इसका जवाब क्षेत्रीय विधायक धीरेंद्र सिंह से मांगेगी,क्योंकि इस मामले में जेवर विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह बिल्कुल मौन साधे रहे हैं।  कांग्रेस दनकौर ब्लाक को समाप्त किए को लेकर जरूर लडाई लडेगी और पुनः बहाली कराई जाएगी।