1 महीने में सीएम से वार्ता कर समस्याओं का समाधान कराए जाने का भरोसा दिए जाने पर किसान माने

 


विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

नए भूमि अधिग्रहण कानून.2013 के अनुसार बाजार दर का 4 गुना मुआवजा एवं 20 प्रतिशत प्लॉट तथा सभी किसानों और भूमिहीनों के बालिग बच्चों को रोजगार दिए जाने की मांग को लेकर किसान अधिकार युवा रोजगार आंदोलन के आह्वान पर आज सैकड़ों ट्रैक्टर ट्रालियों में किसानों ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण और डी.एम.आई.सी. कार्यालय का घेराव कर धरना प्रदर्शन किया। मनीष भाटी बी0डी0सी0 ने बताया कि इस दौरान जो शासन स्तर की वार्ता के संबंध में लखनऊ से अनुसचिव आनंद कुमार सिंह द्वारा सीधे रजिस्ट्री करने वाले किसानों के संबंध में भेजी गई विधिक राय का किसानों ने पुरजोर विरोध किया। किसानों ने दोपहर 2 बजे सर्व सम्मति से निर्णय ले लिया था कि वो  पल्ला, पाली और बोड़ाकी आदि स्थानों पर चल रहे निर्माण कार्य को रोकेंगे, जिस पर वह सभी बड़ी संख्या में गिरफ्तारी देने के लिए भी तैयार हो गए थे परंतु पुलिस और प्रशासन द्वारा 1 महीने में माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वार्ता कर समस्याओं का समाधान कराए जाने का भरोसा दिया गया, जिस पर किसानों ने फिर से मीटिंग की और डी.एम.आई.सी. का अवॉर्ड होने में भी एक महीने का समय लगने की स्थिति को देखते हुए सर्व सम्मति से समय दे दिया। किसानों ने चेतावनी दी है कि यदि एक महीने में सीधे रजिस्ट्री करने वाले किसानों और भूमिहीनों को भी डी.एम.आई.सी. परियोजना से प्रभावित मानते हुए नए अधिग्रहण कानून का लाभ नहीं दिया गया तो फिर से धरना. प्रदर्शन शुरू करेंगे और डी.एम.आई.सी के निर्माण कार्य को रोकेंगे। इस दौरान जय जवान जय किसान मोर्चा, भारतीय किसान सभा, किसान संघर्ष समिति, किसान एकता संघ, देहात मोर्चा, भारतीय किसान यूनियन, ईस्टर्न पेरिफेरल समिति, अंसल व हाईटैक किसान संघर्ष समिति, करप्शन फ्री इंडिया तथा कांग्रेस, सपा व आम आदमी पार्टी के पदाधिकारी भी बड़ी संख्या में शामिल हुए।