सरकारी अस्पताल के चारों और कई कई फीट कीचड और गंदा पानी से हो चुका है, सरकारी अस्पताल ताल तलैया में तब्दील



वैदपुरा गांव की सुध लेते हुए जरूरत के अनुसार विकास कार्य शुरू नही करवाए तो गौतमबुद्धनगर कांग्रेस कमेटी आंदोलन से भी पीछे नही हटेगीः मनोज चौधरी



 मौहम्मद इल्यास/गौतमबुद्धनगर


देश में किसान राजनीति के केंद्र बिंदु रहे स्व0 राजेश पायलट का जन्म गौतमबुद्धनगर के वैदपुरा गांव में हुआ था। स्व0 राजेश पायलट के प्रयासों से वैदपुरा गांव में स्कूल और चिकित्सालय आदि सभी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई थीं। किंतु आज यह वैदपुरा गांव अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। स्कूल और चिकित्सालय तक जर्जर अवस्था में पहुंच चुके हैं और कोई इनकी सुध लेने वाला दिखाई नही दे रहा है। यदि सरकारी अस्पताल की बात करें तो वह स्वयं बीमार हैं। सरकारी अस्पताल के चारों और कई कई फीट कीचड और गंदा पानी भरा हुआ है। एक तरह से यह सरकारी अस्पताल ताल तलैया में ही तब्दील हो चुका है। यही कारण है कि  गांव के लोगों को स्वास्थ्य की सुविधाएं तो मिल नहीं रही है  लेकिन बीमारियां  आए दिन जरूर मिल रही हैं। इस स्वास्थ्य केंद्र के बराबर में एक इंटर कॉलेज है जहां पर छात्र छात्राएं शिक्षा प्राप्त करने आती है। यहां भी गंदगी का बुरा हाल है, कीड़े मकोड़े और मच्छरों का प्रकोप बुरी तरह से फैला हुआ है। गौतमबुद्धनगर प्रशासन और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण इस ओर से पूरी तरह से उदासीन बने हुए हैं। गौतमबुद्धनगर जिला कांग्रेस कमेटी जिलाध्यक्ष मनोज चौधरी ने आला अफसरों से मांग की है कि किसानों नेता स्व0 राजेश पायलट के गांव वैदपुरा में सरकारी अस्पताल, इंटर कॉलेज और सभी बुनियादी सुविधाएं दुरस्त की जाएं। उन्होंने कहा कि स्व0 राजेश पायलट के गांव वैदपुरा यह दुर्दशा बिल्कुल भी बर्दाश्त नही की जाएगी। उन्होंने सरकार को चेताते हुए कहा कि यदि आला अफसरों ने जल्द ही वैदपुरा गांव की सुध नही ली और जरूरत के अनुसार विकास कार्य शुरू नही करवाए तो गौतमबुद्धनगर कांग्रेस कमेटी आंदोलन से भी पीछे नही हटेगी।