विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा 
नोएडा स्टेडियम मे गौतमबुद्धनगर पेरेंट्स वेल्फेयर सोसाइटी स्कूलो द्वारा मांगी जा रही पूरी फीस और पूरी फीस के अभाव मे उनके बच्चों की ऑनलाइन शिक्षा को बंद करने पर शांतिपूर्ण और कोविड के नियमों का पालन करते हुए पहला ब़ड़ा साइलेंट प्रोटेस्ट एक सभा के रूप में किया। जहां 30 से भी ज्यादा स्कूलो के भारी संख्या मे अभिभावकों ने भाग लिया।  स्कूलो ने विद्यार्थियों की परीक्षा की तिथि की घोषणा करनी शुरू कर दी है साथ मे अभिभावकों को पूरी फीस जमा नहीं होने पर विद्यार्थियों को परीक्षा मे सम्मिलित नहीं करने की चेतावनी भी देने लगे हैं ।तथा कुछ स्कूलो ने अभी से ही उनकी ऑनलाइन कक्षाये बन्द करनी प्रारंभ कर दी है ।जिससे अभिभावकों के मन मे फीस के अभाव के कारण बच्चों के भविष्य को लेकर मन मे भय  पैदा हो गया है। जी पी डब्ल्यू एस  के संस्थापक मनोज कटारिया ने बताया कि कोविड के समय मे काफी अभिभावकों की नौकरियां चली गई या उनकी सैलरी मे कटौती की गई है ।तथा लोगो के व्यापार बन्द रहे हैं ।या व्यापार पूर्ण रूप से संचालित नहीं हुए हैं। कुछ स्कूल अभिभावकों के पास बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए बैंक मे रखी धन-राशि को देख कर कह देते हैं कि आप के पास स्कूल की फीस देने के लिये पर्याप्त मात्रा मे धन है ।आपको कोई छूट नहीं मिलेगी ऐसे में अभिभावक सरकार से अपेक्षा कर रहा है ।कि आसपास के दूसरे राज्यों मे वहां की सरकार ने विद्यार्थियों की फीस मे छूट दी हुई है तो उo प्रo सरकार यहा खामोश क्यों है।अध्यक्ष कपिल शर्मा व महासचिव पुनीष गुलाटी ने कहा कि यदि जिले के आठ-दस स्कूल को छोड़कर सभी स्कूल फीस वसूलने के लिए सरकार के आदेश का पालन करने की बात कहते हैं। परन्तु जब इसी सरकार द्वारा बनाया गए फीस रेग्युलेशन ऐक्ट 2018 मे टीचर की सैलरी की बढ़ोतरी का प्रतिशत अपनी वेबसाइट पर डालने की बात आती है। तो स्कूल खामोश हो जाता क्योंकि बच्चों की फीस को निर्धारण करने मे टीचर की सैलरी मे बढ़ोतरी अहम भूमिका निभाता है। पिछले दो सालों मे इसी एक्ट को ठीक से पालन नहीं करने के कारण 70 से भी ज्यादा स्कूलो पर  हजारों/लाखों का आर्थिक दण्ड लगा है। संगठन सचिव एस बेदी, मधु सिंह, शेखर ने सभी आने वाले सभी अभिभावकों को पहले थर्मल स्क्रीन से उनका टेम्परेचर लिया ।और सैनीटाइजेशन किया साथ मे मास्क पहने रखने की गुजारिश की। सभा का संचालन संगठन सचिव सचिन शर्मा ने बड़े शानदार तरीके से किया तथा सभा मे मुख्य वक्ताओं में सुखपाल सिंह तूर, अभीष्ट कुसुम गुप्ता, पल्लवी राय, गीता विद्यार्थी, योगेश भागौर, अमित ऋषि, चणजीत सिंह, रणधीर सिंह, संतोष सिंह व नरेश रावत आदि थे जिन्होंने एक स्वर मे अभिभावकों को एकजुट होने और बच्चों के भविष्य को स्कूल द्वारा खराब होने तथा फीस कम नहीं होने पर आंदोलन करने की बात कही। सभा में  दर्जनों अभिभावक शामिल थे। जिन्होंने अपनी और अपने बच्चों की पढ़ाई व फीस से संबंधित परेशानियों को रखा।