विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण और यमुना प्राधिकरण तथा पीडब्ल्यूडी एवं यूपीएस आईडी प्राधिकरण आदि के अधीन आने वाली सड़कें अधिकतर गड्ढा युक्त हैं, जिन गड्ढों की वजह से आए दिन दुर्घटनाएं घटित हो रही हैं। सड़कों के गड्ढों में 3 फीट पानी भर चुका है, जिसके विरोध में करप्शन फ्री इंडिया संगठन ने सड़कों पर भर रहे कीचड़ एवं जलभराव में धान लगाकर अनोखा विरोध प्रदर्शन किया। करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि ग्रेटर नोएडा शहर एवं गांवों की अधिकतर सड़कें गड्ढा युक्त हैं, जिन सड़कों को सही कराने के लिए कई बार संगठन एवं अन्य ग्रामीणों ने प्राधिकरण को पत्र भेजकर कार्यवाही की मांग की, लेकिन इससे काफी समय से सड़कें ठीक नहीं होने के उपरांत में आज संगठन के कार्यकर्ताओं ने दनकौर के स्पोर्ट्स सिटी से आने वाले बाईपास पर धान के पौधे रोपित कर विरोध प्रदर्शन करते हुए यह मांग की कि प्राधिकरण तत्काल इन सभी सड़कों को गड्ढा मुक्त करें। चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि खेरली नहर से कासना मार्ग,सलेमपुर से घंघौला चौकी मार्ग,बागपुर दादूपुर मार्ग एवं कासना के साइड 5 औद्योगिक मार्ग अन्य मार्ग गड्ढा युक्त हैं। उन्होंने बताया कि इन मार्गों से लोगों का निकलना दुश्वार हो चुका है। गहरे गहरे गड्ढे होने के कारण आए दिन यात्रियों के वाहनों में भारी नुकसान एवं दुर्घटनाएं हो रही हैं जो कि प्राधिकरण की उदासीनता के कारण हो रहा है। चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि बारिश के 3 दिन बाद भी सड़कों पर जलभराव है, सड़कों पर जलभराव के कारण सड़कें खेत की स्थिति में दिख रही हैं इसलिए धान लगाकर विरोध किया गया है। संगठन की कोर कमेटी के सदस्य संजय भैया ने बताया कि ग्रेटर नोएडा शहर एशिया का सबसे साफ स्वच्छ एवं सुंदर शहर था लेकिन प्राधिकरण एवं सरकार की लापरवाही के कारण आज शहर बदसूरत होता जा रहा है अधिकतर सड़कें खराब पड़ी हैं। इस दौरान संजय भैया, बलराज हूण, प्रेम प्रधान, अजय नागर, नीरज भाटी और हबीब सैफी आदि लोग उपस्थित रहे।