किसान एकता संघ की बैठक ग्रेटर नोएडा के सेक्टर अल्फा 1 में संगठन के प्रदेश मीडिया प्रभारी आलोक नागर के कार्यालय पर हुई

विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा
किसान एकता संघ के प्रदेश मीडिया प्रभारी आलोक नागर ने बताया कि इन दिनों पुलिस प्रशासन द्वारा बेवजह किसी किसी तरह से सामाजिक कार्यकर्ताओं को हताश कर उनका मनोबल गिराया जा रहा है। विभिन्न समाचार पत्रों में जब जतन भाटी घरबरा के खिलाफ एफ0आई0आर0 की बात प्रकाशित हुई। वहीं दूसरी तरफ ये बात सम्पूर्ण समाज मै फ़ैल गई और सभी सामाजिक कार्यों में लगे लोगो को बहुत ठेस पहुंची, जिस घटना क्रम में ये मामला दर्ज हुआ है। दरअसल वो इस तरह.तरह से है कि जिम्स हॉस्पिटल के मेडिकल कर्मचारियों को जब सुविधा मिलने पर वो धरने पर बैठे थे। उसी समय उन्होंने समाज के जागरूक लोगो से मद्द की उम्मीद लगाई थी और उसी उम्मीद पर खरा उतरने के मात्र उद्देश्य से जतन भाटी घरबरा वहा पहुंचे थे। इस मौके पर राष्ट्रीय महासचिव बृजेश भाटी ने कहा कि उस समय वहा मौजूद कासना थाने का इंचार्ज प्रभात दीक्षित मौजूद थे, जिन्होंने जतन भाटी और उनके साथियों को क्रूर व्यवहार करते हुए वहां से जाने को बोला,ऐसे में लॉक डाउन के चलते और नियमो का पालन करने के उद्देश्य से जतन भाटी अपनी टीम के साथ वहा से लौट गए और रोजाना कि तरह अपने सामाजिक कार्यों में लीन हो जाए फिर जैसे ही अचानक कुछ दिन पहले पता चला कि उनके खिलाफ इस वक्त एवं अन्य अज्ञात के नाम मुकदमा हुआ है तो ये सुनते है पुलिस की हर समय मद्द के लिए तत्पर सामाजिक लोग हताश हो गए और पुलिस के इस कृत्य की निन्दा की। बैठक में तय किया गया कि 10 जून को किसान एकता संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष सोरन प्रधान के नेतृत्व में किसान एकता संघ का प्रतिनिधिमंडल डीसीपी राजेश कुमार से मिलेगा। इस मौके पर बृजेश भाटी, आलोक नागर, कृष्ण नागर, लौकेश भाटी, निशांत तिवारी, जीतन डाढा आदि पदाधिकारी और कार्यकर्तागण मौजूद रहे।