विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अंतर्गत आने वाले गांव बरसात में इन दिनों गांव के मुख्य रास्तों में जल भरा एवं कीचड़ होने के कारण गांव के लोगों को आने.जाने में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। इस समस्या को लेकर करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ताओं ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन नरेंद्र भूषण को पत्र लिखकर समस्या का समाधान कराने की मांग की है। करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया  कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अंतर्गत आने वाले गांव बरसात में इन दिनों गांव के मुख्य रास्तों में गंदगी एवं कीचड़ जलभराव होने के कारण गांव के लोगों आने.जाने में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है, जिसके कारण गांव के लोगों को दूसरे रास्तों का प्रयोग करने को मजबूर हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि रास्तों में गंदगी होने के कारण संक्रामक रोग फैलने का खतरा भी बना हुआ है। आए दिन इस गंदगी भरे रास्ते से ग्रामीणों को गुजरना पड़ता है। कई बार तो गांव के बुजुर्ग एवं महिलाएं इस कीचड़ में फिसल कर गिर गई हैं जिन को गंभीर चोटें भी आई है। चौधरी प्रवीण भारतीय ने कहा कि इस समस्या को लेकर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों को लिखित रूप एवं मौखिक रूप में कई बार शिकायत भी की जा चुकी है, लेकिन कार्यवाही अभी तक नहीं हो पाई है। संगठन कोर कमेटी के सदस्य संजय भैया ने बताया कि गांव में आरसीसी का कार्य अब से 7 वर्ष पूर्व हुआ था, आरसीसी रोड बनने के दौरान रास्तों का लेवल सही तरीके से नहीं किया गया, कहीं रास्तों को ऊंचा बना दिया गया तो कहीं नीचा। जिस कारण गांव के रास्तों में कीचड़ एवं जलभराव की स्थिति है, वही गांव की स्ट्रीट लाइटें बंद हैं जिस कारण शाम के समय पूरा गांव में अंधेरा पसर जाता है। स्ट्रीट लाइट बंद होने के कारण चोरी छिनेती जैसी घटनाओं का भय बना हुआ है। उन्होंने कहा कि इन सभी समस्याओं का समाधान प्राधिकरण तत्काल करें अन्यथा संगठन के कार्यकर्ता एवं ग्रामीण आंदोलन करेंगे।