BRAKING NEWS

6/recent/ticker-posts

Header Add

डीएम कार्यालय सूरजपुर में भारतीय किसान यूनियन (अंबावता) के कार्यकर्ताओं ने 11 सूत्रीय मांग पत्र एडीएम को दिया

Vision Live/Greater Noida 
 डीएम कार्यालय सूरजपुर में भारतीय किसान यूनियन (अंबावता) के कार्यकर्ताओं ने जिला अध्यक्ष अनिल नगर के नेतृत्व में महामहिम राष्ट्रपति जी के नाम 11 सूत्रीय मांग पत्र एडीएम भैरपाल सिंह को  दिया। 
 जिलाध्यक्ष ने कहा  कि बिजली विभाग उपभोक्ताओं को परेशान कर रहा है। झूठे मुकदमे दर्ज कर रहा है ,बिना सूचना के किसी भी समय बिजली विभाग की टीम किसी के भी घर में प्रवेश कर जाती है। विरोध करने पर महिलाओं बच्चों के साथ अभद्रता करती है यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
  राष्ट्रीय प्रवक्ता अनीश गाजी  इस मौके पर उपस्थित रहे तथा उन्होंने कहा कि ईवीएम मशीन से वोटरों का विश्वास उठ गया है चुनाव आयोग सभी मतदान वैलेट पेपर से कराए भारतीय किसान यूनियन अंबावता ईवीएम मशीन का पुरजोर विरोध करता है। भूपेंद्र नागर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने कहा कि केंद्र सरकार की तानाशाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी, किसानो सभी जायज मांगों को नहीं माना गया तो 2024 में इसका खामियाजा भाजपा को भुगतना पड़ेगा।
 चौधरी शौकत अली चेची राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने मीडिया से  कहा किसानों को सभी सरकारों ने लूटा है ,लेकिन बीजेपी सरकार वादा करके मुकर जाती है ।अपमानित करती है msp गारंटी कानून बनने से किसान एवं देश की जनता का भला ही होगा। किसान जिस  दर्द को लेकर जागता है  उस दर्द को लेकर सो जाता है, आखिर किसान की कौन है सुनने वाला? मालती देवी महिला मोर्चा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि
अगर इन सभी गंभीर समस्याओं का संज्ञान नहीं लिया  गया तो भारतीय किसान यूनियन अंबावता आगे की रणनीति तैयार कर पूरे देश में विरोध आंदोलन करने पर मजबूर होगा। विरोध आंदोलन होने पर किसी भी प्रकार की क्षति होती है तो उसका जिम्मेदार शासन प्रशासन होगा।
 ज्ञापन की प्रमुख मांगे
1-किसानो की सभी फसलों पर msp गारंटी कानून लागू किया एवं आवारा पशुओं से फसलों का हो रहा नुकसान एवं सड़कों आदि से भयंकर दर्दनाक घटनाओं से अनुदान राशि देकर एवं समाधान कर  निजात दिलाई जाए
2-अभी हाल ही में बे मौसम बरसात व ओलावृष्टि से कई राज्यों में किसानो की फसलों को भारी नुकसान हुआ है अधिकारियों  ग्राम प्रधानो एवं बुद्धिजीवियों द्वारा सर्वे कराकर तुरंत उचित मुआवजा दिया जाए ताकि किसान आहत महसूस न करें और अगली फसल की तैयारी समय पर कर सके
3-ईवीएम मशीन के इस्तेमाल पर पूरी तरह  से रोक लगाई जाए देश में सभी चुनाव बैलट पेपर से कराए जाएं जिससे वोटर को भरोसा हो सके की उसका मतदान सही जगह गया है
4-देश में सरकारों की तरफ से चिकित्सा व शिक्षा फ्री  कराई जाए तथा प्राइवेट हॉस्पिटलो एवं प्राइवेट स्कूलों कॉलेजो की मनमानी पर पूरी तरह से रोक लगाई जाए
5-देश के सभी किसानों का पूरा कर्ज माफ किया जाए व ट्यूबलों पर बिजली पूरी तरह से फ्री की जाए तथा किसानों को वृद्धा पेंशन ₹5000 प्रति महा दिया जाए 
6-लोकसभा विधानसभा विधान परिषद मैं चुनाव लड़ने के लिए किसानों को आरक्षण के तौर पर भागीदारी दी जाए तथा किसान आयोग का गठन किया जाए 
7-किसानों पर धरना आंदोलन एवं अन्य कारण से जो फर्जी मुकदमे दर्ज किए गए हैं उन सभी मुकदमो को रद्द किया जाए एवं फर्जी मुकदमा दर्ज करने वाले अधिकारियों एवं किसानों का अपमान व जान से करने वाले नेताओं और लोगों को कानून के तहत उचित दंड एवं सजा दिलाई जाए
8-जहां पर भी किसानों की जमीनों का विकास प्राधिकरण द्वारा अधिग्रहण किया गया है 2013 के  कृषि कानून के आधार पर किसानों का निस्तारण किया जाए
 9-गौतम बुद्ध नगर जिले में किसानो की समस्याओं का निस्तारण नहीं होता आए दिन किसान धरना आंदोलन करने पर मजबूर होते हैं गौतम बुध नगर में जिन किसानों की जमीन अधिग्रहण की गई है उन्हें 50% नौकरी व रोजगार में प्राथमिकता के आधार से भागीदारी दी जाए
10- 64.7% बकाया मुआवजा दिया जाए पुरानी आबादियों को नहीं तोड़ा जाए  बैकलीज एवं 10% पेंडिंग पड़े मामलों को तुरंत निपटाया जाए सभी गांवो में बारात घर सुनिश्चित किए जाएं एवं शमशान भूमि कब्रिस्तान सुनिश्चित किए जाएं 
11- जिन गांवों में श्मशान भूमि  कब्रिस्तान मौजूद हैं उनकी मरम्मत की जाए तथा नाली खरंजा रोड लाइट की मरम्मत की जाए  बिजली विभागों की तानाशाही  पर लगाम लगाई जाए।
 इस मौके पर मुख्य रूप से दिनेश नागर, अनिल हूंणि, कपिल खरे, सूरजमुखी, उषा देवी, रीना देवी, गुड्डी, सावित्री देवी, बलराज सिंह, रविंद्र कुमार, राजू बंसल, जहीर खान, आदि सैकड़ो की तादात में कार्यकर्ता उपस्थित रहे।