BRAKING NEWS

6/recent/ticker-posts

Header Add

श्री द्रोणाचार्य स्नातकोत्तर महाविद्यालय, दनकौर में स्मार्टफोन वितरण समारोह संपन्न


Vision Live/Dankaur 
 दनकौर स्थित श्री द्रोणाचार्य स्नातकोत्तर महाविद्यालय में उत्तर प्रदेश सरकार की टैबलेट एवं स्मार्टफोन वितरण योजना 2022-23 के तहत् गौतमबुद्धनगर के वर्तमान सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री (भारत सरकार) डॉ0 महेश शर्मा ने विभिन्न संकायों के 2022-23 के उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं को स्मार्टफोन वितरित किये। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि डॉ0 महेश शर्मा (सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री, भारत सरकार), महाविद्यालय के अध्यक्ष  राकेश कुमार गर्ग, उपाध्यक्ष  मोहित कुमार गर्ग, सचिव  रजनीकान्त अग्रवाल, उपसचिव  संजीव कुमार गुप्ता, कोषाध्यक्ष  मनीष कुमार अग्रवाल, एवं सदस्य  सुशील कुमार मांगलिक,  संदीप जैन,  मनीष सिंघल  पंकज गर्ग,  राजकुमार गोयल,  मुकुल बंसल,  सोनू वर्मा (सांसद प्रतिनिधि),  गोपाल कृष्ण बजाज, संरक्षक सदस्य  अशोक बजाज, एवं अन्य प्रबन्ध समिति के सम्मानित सदस्यगणों तथा  हरिदत्त शर्मा (दनकौर मण्डल अध्यक्ष, भाजपा),  राजे प्रधान,  चन्द्रपाल सिंह, महाविद्यालय प्राचार्य डॉ0 गिरीश कुमार वत्स के कर-कमलों द्वारा माँ सरस्वती के समक्ष दीप-प्रज्ज्वलन कर किया गया। इस अवसर पर महाविद्यालय के उपसचिव  संजीव कुमार गुप्ता एवं सदस्य  संदीप जैन ने पुष्प गुच्छ,  सोनू वर्मा (सांसद प्रतिनिधि) एवं महाविद्यालय प्राचार्य डॉ0 गिरीश कुमार वत्स ने शॉल तथा महाविद्यालय सचिव रजनीकान्त अग्रवाल एवं कोषाध्यक्ष  मनीष कुमार अग्रवाल ने स्मृति चिन्ह (राम दरबार) के द्वारा मुख्य अतिथि डॉ0 महेश शर्मा (सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री, भारत सरकार) का औपचारिक स्वागत किया गया। महाविद्यालय का सचिव रजनीकांत अग्रवाल ने बताया कि
 दनकौर का सबसे प्राचीन एवं प्रसिद्ध श्री द्रोणाचार्य स्नातकोत्तर महाविद्यालय, श्री द्रोण गऊशाला समिति (रजि0) द्वारा 1997 में स्थापित हुआ था और अब यह महाविद्यालय अपनी रजत जयन्ती (25 वर्ष) पूर्ण कर उत्तरोत्तर प्रगति के पथ पर अग्रसर है। जहाँ कला वर्ग के अन्तर्गत बी.ए. (हिन्दी, अंग्रेजी, चित्रकला, समाजशास्त्र, राजनीति शास्त्र, अर्थशास्त्र, मनोविज्ञान, गृह विज्ञान तथा इतिहास), एम.ए. (हिन्दी एवं अंग्रेजी), विज्ञान वर्ग के अन्तर्गत बी.एससी. (भौतिक विज्ञान, गणित रसायन विज्ञान, वनस्पति विज्ञान, जन्तु विज्ञान), वाणिज्य वर्ग के अन्तर्गत बी.कॉम., एम.कॉम., शिक्षा संकाय के अन्तर्ग बी.एड. तथा प्रोफेशनल कोर्सेस के अन्तर्गत बी.बी.ए., बी.सी.ए. कोर्स संचालित है। श्री द्रोण गऊशाला समिति (रजि0) द्वारा अन्य महत्वपूर्ण संचालित संस्थायें भी है जिनमें श्री द्रोणाचार्य मंदिर (स्थापना 400 वर्ष पूर्व), श्री द्रोण गऊशाला (स्थापना 150 वर्ष पूर्व), श्री द्रोण नाट्य मंडल (स्थापना 1921), श्री द्रोणाचार्य रमेश चन्द विद्यावती कॉन्वेंट स्कूल, (स्थापना 2009) एस.डी.आर.वी.यू.एम.सी. क्रिकेट एकेडमी (स्थापना 2023) एवं बाबा सूखामल डालचन्द नम्बरदार हॉस्पीटल एवं रमेश चन्द विद्यावती ओ.पी.डी. एण्ड डायग्नोस्टिक सेण्टर (स्थापना 2009) के नाम प्रमुख हैं।
कोषाध्यक्ष  मनीष कुमार अग्रवाल ने ने बताया कि श्री द्रोण गऊशाला समिति (रजि0) द्वारा संचालित श्री द्रोणाचार्य मन्दिर के बारे में मान्यता है कि यह मन्दिर अत्यन्त प्राचीन है जहाँ एकलव्य द्वारा स्थापित श्री द्रोणाचार्य की वह प्रतिमा विराजित है जिसके समक्ष उन्हें गुरू मानकर धनुर्विद्या का प्रशिक्षण लिया था। यहाँ प्रत्येक वर्ष श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर एक भव्य मेले का भी आयोजन किया जाता है जो अपना 100 वर्ष पूर्ण कर चुका है।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये मुख्य अतिथि डॉ0 महेश शर्मा (सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री, भारत सरकार) ने कहा कि- प्रेरक चरित्र ही प्रेरणा का स्रोत हो सकता है। शिक्षक एक ऐसा व्यक्तित्व है जो स्वयं से ज्यादा विद्यार्थी को आगे बढ़ते हुये देखना चाहता है। साथ ही उन्होंने अपने उद्बोधन में सुभाष चन्द्र बोस की जयन्ती के अवसर पर विद्यार्थियों को सुभाष चन्द्र बोस जैसा प्रेरणा पुंज बनने को प्रोत्साहित किया। इसी कड़ी में मुख्य अतिथि जी ने कहा कि आज का युग बदला है, परिस्थितियाँ बदली हैं, साधन बदले हैं, जिसमें समय की मांग के अनुसार विद्यार्थियों को मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ की उ0प्र0 सरकार स्मार्ट फोन वितरित कर रही है। आज देश प्रगति के पथ पर अग्रसर है आप सभी भली-भाँति जानते है कल दिनांक 22 जनवरी 2024 को अयोध्या में श्रीराम लला मन्दिर की प्राण-प्रतिष्ठा के शुभ अवसर पर पूरा देश श्रीराममय है।  सांसद ने महाविद्यालय एवं प्रबन्ध समिति की प्रशंसा करते हुये कहा कि यह महाविद्यालय हमारे देश की बेटियों के लिए एक आदर्श विद्या मन्दिर है। विद्यार्थियों की समस्या को दृष्टिगत रखते हुये उन्होनें महाविद्यालय में एक प्रेक्षागृह (ऑडिटोरियम हॉल) शीघ्र बनवाने का आश्वासन दिया। साथ ही छात्र-छात्राओं के उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनायें दी।
इसी कड़ी में महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ0 गिरीश कुमार वत्स ने महाविद्यालय का परिचय प्रस्तुत किया और कहा कि विद्यार्थियों को मा0 सांसद  के प्रेरक व्यक्तित्व से प्रेरणा लेनी चाहिए तथा विद्यार्थियों से स्मार्ट फोन का सही तरीके से प्रयोग करने तथा स्मार्ट फोन को अधिक से अधिक अपनी शिक्षा के लिए प्रयोग करने का आव्हान किया। साथ ही प्राचार्य ने अपने उद्बोधन में कहा कि ‘‘राजनीति राम के पास थी तो भक्ति थी, श्रीकृष्ण के पास गई तो युक्ति बनी, रावण के पास गई तो शक्ति बनी, जब कांग्रेस के पास गई तो आशक्ति बनी, सपा के पास गई तो विपत्ति बनी, बसपा के पास गई तो सम्पत्ति बनी, और वही राजनीति योगी मोदी के पास आई तो राष्ट्रभक्ति बनी’’।
समारोह का सबसे मुख्य आकर्षण स्मार्टफोन का वितरण रहा। इस कड़ी में महाविद्यालय में संचालित बी.ए., बी.कॉम., बी.एससी., बी.एड., के सत्र 2022-23 में उत्तीर्ण 273 विद्यार्थियों (273 स्मार्ट फोन) को मुख्य अतिथि डॉ0 महेश शर्मा (सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री, भारत सरकार), महाविद्यालय के अध्यक्ष  राकेश कुमार गर्ग, उपाध्यक्ष  मोहित कुमार गर्ग, सचिव  रजनीकान्त अग्रवाल, उपसचिव  संजीव कुमार गुप्ता, कोषाध्यक्ष  मनीष कुमार अग्रवाल, एवं सदस्य  सुशील कुमार मांगलिक,  संदीप जैन,  मनीष सिंघल,  संजय कुमार गोयल,  पंकज गर्ग,  राजकुमार गोयल,  मुकुल बंसल,  सोनू वर्मा (सांसद प्रतिनिधि), संरक्षक सदस्य  अशोक बजाज,  गोपाल कृष्ण बजाज,  हरिदत्त शर्मा (मण्डल अध्यक्ष) एवं  राजे प्रधान,  चन्द्रपाल सिंह तथा महाविद्यालय प्राचार्य डॉ0 गिरीश कुमार वत्स के कर-कमलों द्वारा वितरित किया गया।
इस अवसर पर छात्र-छात्राओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों का सुन्दर प्रस्तुतिकरण भी हुआ जिसमें- सर्वप्रथम माँ सरस्वती वन्दना, शिव तांडव, भगवान श्रीराम पर आधारित पारम्परिक नृत्य, लक्ष्मण मूर्छित पर आधारित एक लघु नृत्य, देशभक्ति काव्य पाठ, हरियाणवी नृत्य एवं एकल गायन (खुशी शर्मा द्वारा) प्रमुख हैं। तत्पश्चात् महाविद्यालय सचिव रजनीकान्त अग्रवाल द्वारा धन्यवाद ज्ञापन दिया गया। उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा कि संसार में कोई भी कार्य असम्भव नहीं है; यदि विद्यार्थी अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कृत संकल्प रहे। इसके साथ ही महाविद्यालय प्रांगण में राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा आयोजित देशभक्त एवं महान स्वतंत्रता सैनानी, आजाद हिन्द फौज के संस्थापक एवं प्रथम भारतीय आई.सी.एस. अधिकारी तथा ‘तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा’ का अमर नारा देने वाले सुभाष चन्द्र बोस जी की 127वीं जन्मशती के अवसर पर मुख्य अतिथि डॉ0 महेश शर्मा (सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री, भारत सरकार) ने  राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी डॉ0 देवानन्द सिंह के साथ सुभाष चन्द्र बोस के चित्र पर श्रद्धा-सुमन अर्पित किये। इस कार्यक्रम में राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं-सेवियों का भी विशेष योगदान रहा। मंच का संचालन महाविद्यालय की उप प्राचार्या डॉ0 रश्मि गुप्ता तथा डॉ0 निशा शर्मा द्वारा किया गया। इस अवसर पर महाविद्यालय के सभी संकायों-कला, विज्ञान, वाणिज्य, बी.एड. एवं बी.बी.ए./बी.सी.ए. के विभागाध्यक्ष डॉ0 देवानन्द सिंह,  अमित नागर, डॉ0 प्रीति रानी सेन, डॉ0 रश्मि जहाँ एवं श्रीमती शशी डहेलिया, तथा प्राध्यापक/प्राध्यापिकाओं में डॉ0 शिखा रानी,  चन्द्रेश कुमार त्रिपाठी, डॉ0 कोकिल,  इन्द्रजीत सिंह, डॉ0 प्रशान्त कन्नौजिया, डॉ0 अज़मत आरा, डॉ0 नाज परवीन, डॉ0 संगीता रावल, डॉ0 अनुज कुमार भड़ाना, श्रीमती प्रीति सिंघल,  प्रीति शर्मा,  सुनील कुमार, कु0 काजोल अरोरा, डॉ0 रेशा, महींपाल सिंह,  योगेश नागर,  विक्रम सैनी, श्रीमती हनी शर्मा, श्रीमती सोनाली बाल्यान, श्रीमती प्रीति पतंजलि, श्रीमती मोनिका शर्मा,  दिग्विजय सिंह तथा कार्यालय स्टॉफ में  अजय कुमार,  करन नागर,  पुनीत कुमार गुप्ता,  मुकुल कुमार शर्मा, बिजेन्द्र सिंह,  अंकित नागर,  विनीत कुमार, एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों में  मनोज कुमार,  ज्ञान प्रकाश,  बिल्लू सिंह,  रनवीर सिंह,  मीनू सिंह,  मोती कुमार,  धनेश कुमार,  विनोद कुमार,  अशोक कुमार, श्रीमती रानी,  जगदीश कुमार एवं समस्त महाविद्यालय परिवार उपस्थित रहा एवं सभी का सहयोग सराहनीय रहा।