BRAKING NEWS

6/recent/ticker-posts

Header Add

उत्तर प्रदेश को प्रभु श्रीरामलला और भगवान श्रीकृष्ण की चरण रज से पावन हुई भक्ति, शक्ति और संस्कृति की धारा ने सदैव पोषित किया है- विधायक धीरेंद्र सिंह

विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा 
उत्तर प्रदेश के जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह ने नोएडा हाट में अयोजित उत्तर प्रदेश दिवस कार्यक्रम का फीता काट व दीप प्रज्ज्वलित कर शुभ आरंभ किया। उन्होंने कहा इस कार्यक्रम का उद्देश्य उत्तर प्रदेश का विकास हमारी प्राथमिकता है व उत्तर प्रदेश की विविध और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत, विविधता और विकास की प्रशंसा एवं प्रचार करना है। कार्यक्रम के शुरुवाती क्षण में उत्तर प्रदेश के मुख्य्मंत्री योगी आदित्यनाथ का लाइव उद्बोधन सुना। इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों के शिल्पकारों, कलाकारों और उद्यमियों के ओडीओपी उत्पादों की प्रदर्शनी भी लगाई गई। धीरेंद्र सिंह ने इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के इतिहास, संस्कृति और आध्यात्मिकता की बात की। विधायक ने कहा कि यह उत्तर प्रदेश सबसे पहले गौतम बुद्ध की कर्म स्थली रही है, उन्होंने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश भारत का सबसे ज्यादा आबादी वाला राज्य है और इसका इतिहास, भूगोल, धर्म, भाषा, संगीत, कला, शिल्प, त्योहार, खाना और राजनीति बहुत ही विविध और रंगीन हैं। धीरेन्द्र सिंह ने कहा उत्तर प्रदेश आध्यात्मिक विरासत का गवाह है, उन्होंने अनेक पवित्र और प्राचीन तीर्थस्थलों का जिक्र किया, जिनमें अयोध्या, काशी, मथुरा, वृन्दावन, प्रयागराज, चित्रकूट, नैमिशारण्य, सरनाथ, कुशीनगर, श्रावस्ती आदि शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इन स्थानों पर हिन्दू, बौद्ध, जैन, सिख, इस्लाम और अन्य धर्मों के अनुयायियों का आगमन होता है और इन स्थानों पर अनेक मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा, चर्च, स्तूप, विहार और अशोक के स्तंभ हैं। उन्होंने बताया कि इनमें से कुछ तो विश्व धरोहर सूची में भी शामिल हैं। धीरेंद्र सिंह ने कहा उत्तर प्रदेश सांस्कृतिक विरासत का प्रतिबिंब है, उन्होनें इसकी अनूठी और अमूल्य कलाकृतियों का भी वर्णन किया, जिनमें ताजमहल, आगरा का किला, फतेहपुर सीकरी, लखनऊ का बारा इमामबाड़ा, रामपुर का राजा महल, जौनपुर का अताला मस्जिद, वाराणसी का विश्वनाथ मंदिर, अयोध्या का राम जन्मभूमि मंदिर, मथुरा का कृष्ण जन्मभूमि मंदिर, वृन्दावन का प्रेम मंदिर, प्रयागराज का अकबर का किला, कानपुर का जामा मस्जिद, जहाँगीर का मकबरा, साहनी का हवेली आदि शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इनके अलावा उत्तर प्रदेश की लोक कला, नृत्य, संगीत, साहित्य, भाषा और बोली भी इसकी सांस्कृतिक विरासत का हिस्सा हैं। उन्होंने बताया उत्तर प्रदेश ने देश की सबसे बड़ी ऑफिस बिल्डिंग, सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था, डिजिटल पेमेंट में टॉप पर गंगा की सफाई में अग्रणी, गांवों का विद्युतीकरण और अन्य कई योजनाओं के माध्यम से विकास की नई ऊंचाइयों को छूने का काम किया है, उत्तर प्रदेश एक विकास का राज्य है, जिसने अपने उत्पादन, रोजगार, शिक्षा, स्वास्थ्य, खेती, पर्यटन, उर्जा, संचार, सुरक्षा और अन्य क्षेत्रों में अनेक उपलब्धियां हासिल की हैं। उत्तर प्रदेश ने आर्थिक नियोजन की उपलब्धियों के लिए देश में पहली श्रेणी का स्थान प्राप्त किया है। धीरेन्द्र सिंह ने उत्तर प्रदेश के लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'आत्मनिर्भर भारत' अभियान का समर्थन करने और उत्तर प्रदेश को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के लोगों की मेहनत, उद्यमिता और नवाचार से उत्तर प्रदेश का विकास होगा और देश का विकास होगा। कार्यक्रम में उपस्थित केन्द्र व राज्य सरकार की योजनाओं से लाभवानवित लाभार्थियों को प्रमाण पत्र व टूल किट वितरित किया। अंततः विधायक धीरेंद्र सिंह ने आम जन से कहा आइए हम सब मिलकर प्रण लेते है अपने राज्य के विकास के लिए एक नई संकल्पना करें। आइए हम सब मिलकर अपने राज्य के लिए एक नई जिम्मेदारी लें। आइए हम सब मिलकर अपने राज्य के लिए एक नई दिशा तय करें। आइए हम सब मिलकर अपने राज्य को एक नई पहचान दें।कार्यक्रम के दौरान प्रभारी मंत्री बृजेश सिंह, एमएलसी विधायक श्रीचंद शर्मा, नोएडा विधायक पंकज सिंह, जिला अधिकारी मनीष कुमार वर्मा, मनोज गुप्ता, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण सीईओ रवि कुमार, प्राधिकरण के अधिकारीगण एवं जनता जनार्दन उपस्थित रहे। उन्होंने भी उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत की सराहना की और आत्मनिर्भर भारत के लिए अपना सहयोग दिया।