BRAKING NEWS

6/recent/ticker-posts

Header Add

ज़ेवर विधानसभा को मिला नववर्ष के उपलक्ष्य में नायाब तोहफा"

आजादी के बाद पहली बार दनकौर क्षेत्र को मिला राजकीय कन्या महाविद्यालय, नए साल की भोर में हुआ भूमि पूजन

"जेवर विधानसभा में तीसरे डिग्री कॉलेज दनकौर क्षेत्र के   दौला रजपुरा गांव में बनेगा
11 करोड रुपए की लागत से 18 माह में बनकर तैयार होगा राजकीय कन्या डिग्री कॉलेज
"2024 जनवरी को सूर्य की पहली किरण लेकर आई क्षेत्र की बहन बेटियों के लिए खुशियों की सौगात: धीरेंद्र सिंह
Mohammad Ilyas-"Dankauri" / Greater Noida 
"जब लोग अपने घरों में रजाइयों में कैद थे, उस वक्त बच्चियां,अपने लिए निर्मित होने वाले महिला डिग्री कॉलेज का विधिवत, वैदिक मंत्रोच्चार के बीच कर रही थी ,भूमि पूजन। ग्रेटर नोएडा के ग्राम मायचा के प्रधान  राजेंद्र सिंह के साथ ऑक्सफोर्ड ग्रीन पब्लिक स्कूल की कन्याओं के साथ बैठकर कराया भूमि पूजन।

ज्ञात रहे कि दिनांक 16 अक्टूबर 2019 को 19वीं इम्पावर्ड कमेटी की बैठक में विधानसभा क्षेत्र जेवर जनपद गौतमबुद्धनगर के विकास खंड दनकौर के ग्राम दौला रजपुरा में प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के अंतर्गत राजकीय कन्या डिग्री कॉलेज के निर्माण के संबंध में स्वीकृति दी गई थी और जिसका केन्द्रांश भी उत्तर प्रदेश सरकार को तददिनांक के माध्यम से प्रेषित भी किया जा चुका था, लेकिन विभागों के आपसी टकराव की वजह से राजकीय कन्या महाविद्यालय निरस्त होने की स्थिति तक पहुंच गया था, लेकिन जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह के परिश्रम और निरंतर प्रयास के कारण आज इस राजकीय कन्या महाविद्यालय का भूमि पूजन हुआ। प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम योजना अंतर्गत यह राजकीय कन्या महाविद्यालय 11 करोड रुपए की धनराशि से 18 माह में बनकर तैयार होगा। साथ ही यह महाविद्यालय छात्राओं की शिक्षा के लिए मील का पत्थर साबित होगा।
            जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश और जेवर में विकास की जो बयार बह रही है, उसने तत्कालीन सरकारों को बहुत पीछे छोड़ दिया है। केंद्र और प्रदेश सरकार ने आम आदमी की जरूरत से जुड़ी योजनाओं को लागू किया है।
               जैसा कि विदित ही है कि ज़ेवर विधानसभा में एक डिग्री कॉलेज में पढ़ाई प्रारंभ हो चुकी है तथा दूसरा राजकीय कन्या महाविद्यालय 90 प्रतिशत से भी अधिक बनकर तैयार हो गया है और यहां आगामी समय में पढ़ाई प्रारंभ हो जाएगी। तीसरा राजकीय कन्या महाविद्यालय भी शीघ्र जनता को समर्पित कर दिया जाएग, जिससे दादरी और सिकंदराबाद क्षेत्र को भी फायदा होगा। 
                  जेवर से विधायक  धीरेन्द्र सिंह ने आगे कहा कि "शिक्षा ही एक ऐसा माध्यम है, जिससे हम आने वाली पीढि़यों के भविष्य को उज्जवल बना सकते हैं। इस क्षेत्र में डिग्री कॉलेज खुलना, आस-पास व आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की छात्राओं को अपने भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए एक सुनहरा अवसर प्रदान करेगा। साथ ही स्थानीय छात्राएं इसका पूरा लाभ उठाएंगी तथा पास में ही बेटियों को उच्च शिक्षा ग्रहण करने का अवसर मिलेगा।
            ज़ेवर विधायक श्री धीरेन्द्र सिंह ने यह भी कहा कि आजादी के 70 वर्ष बाद भी जेवर विधानसभा में कोई भी डिग्री कॉलेज नहीं था, जिसका दंश मुझे और यहां की जनता को झेलना पड़ रहा था, लेकिन मुझे गर्व है कि आज मेरी विधानसभा में 03-03 डिग्री कॉलेजों की स्थापना होने जा रही है।
            ज़ेवर विधायक  धीरेन्द्र सिंह ने यह भी कहा कि "तत्कालीन सरकारों में, जो गुंडे-माफिया आतंक फैलाकर, व्यापारियों व आम लोगों का पलायन कर रहे थे, विगत 06 वर्षों में, वह गुंडे माफिया अब खुद पलायन कर रहे हैं।
          कार्यक्रम की अध्यक्षता  हरदत्त खलीफा निवासी ग्राम फरीदपुर ने की तथा संचालन भाजपा गौतमबुद्धनगर के निवर्तमान जिलाध्यक्ष सुशील शर्मा ने किया। 
          इस मौके पर श्री किसान कल्याण परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष  सुधीर त्यागी, लखावटी के ब्लॉक प्रमुख  ईश्वर सिंह, पूर्व जिला पंचायत सदस्य शशांक भाटी, हसमत मुल्ला जी,  जुल्फेकार दौला,  शशिभूषण शर्मा चीरसी,  मनोज भाटी डाढा,  धर्मेन्द्र भाटी लडपुरा, नैपाल ठेकेदार शाहपुर, ओमवीर मास्टर फजायलपुर,  फिरे प्रधान समादिपुर, गजराज आर्य न्याना, रनवीर मास्टर जी बागपुर,  विनयामिन प्रधान तील,  खुशीराम नम्बरदार राजपुर कलां,  राजेश प्रधान,  हरिदत्त खलीपा,  राजेंद्र प्रधान मायचा,  जिले प्रधान नौरंगपुर,  भवर प्रधान चीरसी,  जाखर प्रधान अनवरगढ़,  जमील प्रधान उसमानपुर,  सहाबुद्दीन प्रधान मंडपा,  महेंद्र सिंह राजपुर कलां, नंदू प्रधान चीती,  संजय चेयरमैन बिलासपुर,  उसमान प्रधान मंडपा, मकसुर अली प्रधान दौला, साबिर प्रधान तिल,  निजाम कुरैशी तिल,  राजेंद्र नेता जी समादिपुर, शशांक घरबरा,  राम सिंह नेता जी घरबरा, सरजीत डॉक्टर समादिपुर,  जैपाल दरोगा मायचा,  जयवीर दरोगा नथा ग्राम,  बेगराज नागर नथा ग्राम, भूरे खा अच्छेजा आदि सैंकड़ों लोग मौजूद रहे।