BRAKING NEWS

6/recent/ticker-posts

Header Add

दनकौर में मातृशक्ति के सहारे चुनावी जंग लड़ने की तैयारी शुरू

 


 



चेयरमैन पद के लिए मैदान में कूद चुके लोगों ने तरकस से तीर निकालने शुरू किए

मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/ ग्रेटर नोएडा

दनकौर में मातृशक्ति के सहारे जंग लड़ने की तैयारी भी शुरू हो गई है। नगर निकाय चुनाव 2022 की घोषणा जल्द ही हो सकती है। दनकौर में चेयरमैन पद के लिए मैदान में कूद चुके लोगों ने तरकस से तीर निकालने शुरू कर दिए हैं। दनकौर नगर चेयरमैन पद आरक्षित होगा या फिर अनारक्षित रहेगा इस बात पर इन चुनावी दौड में शामिल हो चुके लोगों की निगाहें टिकी हुई हैं। इनमें से कुछ लोगों ने मातृशक्ति के सहारे चुनावी नैया पार लगाने की जुगत भिडानी शुरू कर दी है। अभी तक चुनाव मैदान में देवकी, रेखा, विनीता और राजवती देवी कूद चुकी हैं। राजवती देवी पूर्व में चेयरमैन रह चुकी है। पिछले चुनाव में राजवती  देवी के पति जय सिंह मामूली अंतर से चुनाव हार गए थे। इस बार फिर चुनाव में किस्मत आजमाने के लिए तैयारी शुरू कर दी गई है। सूत्रों की मानें तो यदि इस बार सीट महिला नही आती है तो पूर्व चेयरमैन राजवती देवी पत्नी जय सिंह के पुत्र दीपक सिंह चुनाव मैदान में कूद सकते हैं। महिला अनूसचित आरक्षित हो जाने पर राजवती देवी का चुनाव लडना तय माना जा रहा है। दूसरी ओर सभासद ललित कुमार भी अपनी पत्नी रेखा देवी को चुनाव मैदान में उतारने की ठान चुके हैं। रेखा देवी अनुसूचित जाति से आती है और पूर्व में भी सभासद रह चुकी हैं। इस बार रेखा देवी के पति ललित कुमार सभासद है जो कि वर्तमान चेयरमैन मास्टर अजय कुमार के राईट हैंड माने जाते हैं।








तय माना जाता रहा है कि अनुसूचित जाति में आरक्षित होने पर ललित कुमार चुनाव लडेंगे और यदि अनुसचित जाति में महिला के लिए आरक्षण तय होता है, तो रेखा देवी का चुनाव लडना तय माना जा रहा है। इनके अलावा वर्तमान चेयरमैन मास्टर अजय कुमार भाटी पहले ही अपने पत्ते खोल चुके हैं सामान्य, पिछडा वर्ग में भी उनका चुनाव लडना तय है। यदि अनुसूचित जाति को छोड कर सीट महिला के लिए आरक्षित होती है तो उनकी धर्मपत्नी देवकी जरूर चुनाव में अपनी किस्मत आजमांएगी। साथ ही सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित होती है, तो चेयरमैन मास्टर अजय कुमार भाटी अपने भरोसेमंद सभासद ललित कुमार अथवा उनकी पत्नी रेखा देवी को चुनाव लडाएंगें। इधर भाजपा सेक्टर संयोजक अतुल कुमार मित्तल भी अपनी धर्मपत्नी के सहारे चुनावी वैतरणी पार किए जाने की ठाने हुए हैं। अतुल मित्तल भाजपा से टिकट की आस लगाए हुए हैं। यदि  यहां की सीट सामान्य महिला के लिए आरक्षित होती है, तो उस स्थिति में अतुल मित्तल अपनी धर्म पत्नी विनीता मित्तल को चुनाव लडाएंगे। जब कि गौरव नागर एडवोकेट, सोरन प्रधान, रजनीकांत अग्र्रवाल और जितेंद्र नागर भी चुनाव दौड में बने हुए हैं किंतु इन्होंनें अभी इस बात के पत्ते नही खोले हैं कि मातृशक्ति के सहारे चुनावी रण में शामिल होंगे या नही, यह अभी भविष्य के गर्म में छिपा हुआ हैं। बहरहाल जैसे जैसे समय समय बीतता जा रहा है, चुनावी दौड तेज होती ही जा रही है।

आइए जानिए दनकौर नगर में अब तक चुने गए, चेयरमैन

 



1- बाबूराम

2- नन्नूमल

3- छेदालाल गर्ग

4- गिरधारी लाल गोयल

5- भीकचंद वैश्य

6-छज्जू राम शर्मा

7-तुलसीराम शर्मा उपचुनाव विजेता

8-डालचंद

9-भगवती प्रसाद गोयल

10-श्रीमती लाजवंती पत्नी गजराज सिंह

11- महिपाल गर्ग

12- राजवती पत्नी जयसिंह

13-रोशनी देवी पत्नी पदम सिंह।

14- मास्टर अजय कुमार भाटी

15--------चेयरमैन का चुनाव अब होगा