>
>
विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा
राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सलेमपुर गुर्जर में कार्यरत डॉ सुषमा सिंह सफरीवाला सहायक अध्यापिका द्वारा सलेमपुर गांव की अध्ययनरत छात्र-छात्राओं की माताओं को उनके रोजगार व आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से एक छोटी सी पहल एक सकारात्मक व आत्मविश्वास के साथ जोड़ने के लिए प्रयास किया जा रहा है ।
डॉक्टर सफ़रीवाला द्वारा गांव की महिलाओं को जोड़कर उनके बीच में रोजगार हेतु नए -नए विचार रखें, उनमें से एक नई पहल पुराने कपड़े व  सूती कपड़ों आदि से थैले बनाने के लिए उन्हें प्रेरित करना और उन्हें उदाहरण के रूप में छोटे-छोटे व बड़े थैले  बनवा कर उन्हें प्रोत्साहित करना कि किस तरह से महिलाएं अपने छोटे-छोटे प्रयासों से आत्मनिर्भर बन सकती हैं। 
> गांव की महिलाओं को रोजगार से जोड़ा जा रहा है, यह एक छोटी सी पहल कपड़ों के थैलों से की जा रही है । वहीं डॉक्टर सुषमा सिंह का कहना है कि रोजगार के साथ-साथ पर्यावरण संरक्षण को दृष्टिगत रखते हुए प्लास्टिक बैग आदि को प्रयोग न करने का संदेश देते हुए कि पूरे गांव की महिलाओं को धीरे-धीरे जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है, जिससे कि समाज की सभी  महिलाओं में  आत्मनिर्भरता के साथ-साथ एक आत्मविश्वास व ऊर्जा पैदा हो सके, और हर नारी शक्ति आत्म -निर्भर बन सकें ।