>

 एडीएम ने नगर पंचायत अधिकारियांं पर जमकर लताड लगाई, साथ ही अधिशासी अधिकारी को मामले की जांच कर कार्यवाही किए जाने के आदेश दिए 

दनकौर में 20 वर्षो से अधिकारी कुंडली मारे हुए बैठे हुए हैं, जो जनता का काम बिल्कुल नही कर रहे हैं, ऐसे निक्कमे अधिकारियों को यहां से तत्काल हटवाया जाएगाः शिकायतकर्ता सुनीता देवी के पति राधेश्याम प्रजापति 

>


मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/ग्रेटर नोएडा

दनकौर नगर पंचायत में तैनात अधिकारी जनता का कोई कार्य नहीं कर रहे हैं। यहां तक की सीएम पोर्टल पर दी गई जनता की शिकायतों का भी निस्तारण न करते हुए सीट पर बैठकर झूठी आख्या रिपोर्ट लगाकर शासन को भेज दी जाती हैं। वहीं तहसील स्तर के उच्च अधिकारियों द्वारा इन शिकायतों के निस्तारण पर कोई जांच नहीं की जाती है। इस तरह से सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं पर नगर पंचायत दनकौर के अधिकारियों और तहसील अधिकारियों के द्वारा पलीता लगाया जा रहा है। यह आरोप तहसील दिवस यानी समाधान दिवस में दनकौर निवासी सुनीता पत्नी राधेश्याम ने डीएम को लिखे पत्र शिकायत पत्र मेंं लगाए हैं। उधर एडीएम ने नगर पंचायत अधिकारियांं पर जमकर लताड लगाई है। साथ ही एडीएम ने दनकौर नगर पंचायत अधिशासी अधिकारी को मामले की जांच कर कार्यवाही किए जाने के आदेश दिए हैं। शिकायकर्ता सुनीता देवी पत्नी राधेश्याम प्रजापति ने पत्र में डीएम को अवगत कराया है कि नगर पंचायत दनकौर मैं तैनात अधिकारी जनता का कोई कार्य नहीं करते हैं। सीएम पोर्टल पर दी गई जनता की शिकायतों का निस्तारण न करते हुए सीट पर बैठकर झूठी आख्या रिपोर्ट लगाकर शासन को भेजते हैं। जिस पर तहसील स्तर के उच्च अधिकारियों द्वारा कोई जांच नहीं की जाती है। पत्र में डीएम को यह भी अवगत कराया गया है कि नगर पंचायत दनकौर के भ्रष्ट अधिकारी लगभग 20 वर्षों से तैनात एक ही जगह पर तैनात है और यही कारण है कि पूरी मनमानी पर उतरे हुए हैं। शिकायकर्ता सुनीता देवी पत्नी राधेश्याम पत्र में अवगत कराया है कि उन्होंने अनेक बार सुलभ शौचालय बनवाने के लिए आवेदन किया। तहसील दिवस में भी आवेदन किया और यहां तक की सीएम पोर्टल पर भी आवेदन किया, लेकिन आज तक कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं की गई। साथ ही मुहल्ले में हैंडपंप लगाए जाने के बावत भी मांग की गई थी। जबकि नगर पंचायत द्वारा मकान का नक्शा स्वीकृत है तथा मैप मानचित्र भी स्वीकृत है, हाउस टैक्स, मकान नंबर पर देती चली आ रही हैं, फिर भी कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं की गई है।

>
पत्र में मांग की गई है कि नगर पंचायत दनकौर के भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ जांच कराकर कानूनी कार्रवाई करते हुए सुलभ शौचालय और हैंडपंप लगावा जावे। उधर एडीएम ने इस शिकायत पत्र को गंभीरता से लिया है मौके पर मौजूद नगर पंचायत अधिकारियों को जमकर लताड लगाई है साथ ही मामले की जांच नगर पंचायत अधिशासी को सौंपी हैं। शिकायतकर्ता सुनीता देवी के पति राधेश्याम प्रजापति ने ’’विजन लाइव’’ को बताया कि नगर पंचायत दनकौर के भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही के लिए मुख्यमंत्री को एक पत्र लिखा जाएगा। यहां दनकौर में 20 वर्षो से अधिकारी कुंडली मारे हुए बैठे हुए हैं, जो जनता का काम बिल्कुल नही कर रहे हैं, ऐसे निक्कमे अधिकारियों को यहां से तत्काल हटवाया जाएगा।