>

विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

 एक फर्जी डॉक्टर द्वारा संचालित निजी अस्पताल में इलाज में कथित तौर पर घोर लापरवाही के कारण एक महिला की मौत हो गई। पुलिस ने फर्जी डॉक्टर प्रियरंजन ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया गया है। डीसीपी जोन-2 राजेश एस. ने बताया कि गाजियाबाद के इंदिरापुरम की रहने वाली महिला 19 अगस्त को बिसरख इलाके के ईको विलेज 2 में डॉक्टर प्रियरंजन ठाकुर द्वारा संचालित आईवीएफ क्रिएशन वर्ल्ड सेंटर गई थी। वह इन.विट्रो फर्टिलाइजेशन  यानी आईवीएफ प्रक्रिया के लिए दो महीने से अस्पताल में इलाज करा रही थी, जो गर्भावस्था के लिए एक प्रौद्योगिकी.सहायता वाली विधि है। उन्होंने कहा कि प्रक्रिया के दौरान महिला बीमार पड़ गई और केंद्र में आपातकालीन सहायता की कमी के कारण उसकी हालत इतनी खराब हो गई कि वह कोमा में चली गई और उसे दूसरे अस्पताल ले जाना पड़ा। डीसीपी ने बताया कि जहां 26 अगस्त को उसकी मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में शिकायत के आधार रिपोर्ट दर्ज करते हुए आईवीएफ केंद्र के मालिक डॉक्टर प्रियरंजन ठाकुर को महिला की मौत के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि जांच के दौरान पता चला है कि गिरफ्तार गिए गए डॉक्टर प्रियरंजन ठाकुर के एमबीबीएस के कागजात तक फर्जी पाए गए हैं।