विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा 
भारतीय किसान यूनियन अजगर के पदाधिकारियों ने किसानों की समस्याओं से संबंधित 5 सूत्रीय मांग का ज्ञापन टोल प्रबंधक जेवर यमुना एक्सप्रेसवे को दिया था। जिसमें उन्होंने कोई भी प्रतिक्रिया किसानों की समस्याओं से संबंधित नहीं दी। काफी दिन इंतजार करने के बाद आज भारतीय किसान यूनियन अजगर के पदाधिकारी जेवर टोल पर पहुंचे और किसानों की समस्याओं से संबंधित कार्यवाही के विषय में पूछा। लेकिन कोई भी संतुष्टिजनक जवाब नहीं देने के कारण भारतीय किसान यूनियन अजगर आने वाली  7 अक्टूबर 2022 प्रातः 10 बजे  एक महापंचायत का आयोजन जेवर टोल प्रबंधक के समक्ष करने का ज्ञापन जेवर टोल प्रबंधक को दे दिया। ज्ञापन में लिखा गया है कि 7 अक्टूबर 2022 से पहले या तो किसानों की समस्याएं हल हो जाए। अन्यथा किसान आंदोलन करने को मजबूर होंगे। जब तक किसान जब टोल पर उपस्थित रहेंगे किसी भी गाड़ी से कोई भी शुल्क नहीं लिया जाएगा। इसकी जिम्मेदारी टोल प्रबंधक की होगी । भारतीय किसान यूनियन अजगर शांतिप्रिय तरीके से धरना प्रदर्शन करेगी। इस बीच कोई भी अशांति टोल कर्मियों के द्वारा की जाती है तो उसकी जिम्मेदारी शासन और प्रशासन की होगी। इस मौके पर राष्ट्रीय अध्यक्ष हरवीर नागर,राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य प्रभु प्रधान, रजपाल भगत जी, राष्ट्रीय प्रवक्ता नरेश चपरगढ़,  प्रदेश अध्यक्ष सचिन शर्मा,ज़िला अध्यक्ष राजेश उपाध्याय,  मेरठ जिला अध्यक्ष पवन गुर्जर , मथुरा जिला ठाकुर चंद्रपाल, मेरठ मंडल महासचिव जबर सिंह मलिक,गाज़ियाबाद  जिलाध्यक्ष वीरेश भाटी,बुलंदशहर जिलाध्यक्ष बिन्नू अधाना, विनोद मलिक, युवा जिलाध्यक्ष जुबैर भाटी, केहर अली आदि पदाधिकारी उपस्थित रहे।