>

थाना प्रभारी राधा रमण सिंह ने परिजनों को आश्वासन दिया कि बच्चे की मौत की गुत्थी को जल्द ही खोल दिया जाएगा, पुलिस बच्चे के कातिलों तक पहुंचने ही वाली है, बस थोडा और सब्र रखें

मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/ग्रेटर नोएडा

थाना दनकौर क्षेत्र में 6 वर्षीय बच्चे हर्ष उर्फ फजलू की मौत के मामले के खुलासे को लेकर पुलिस का घेराव किया गया। पुलिस ने लोगों को आश्वसन दिया कि जल्द ही हर्ष उर्फ फजलू की मौत से पर्दा उठाते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी गौरतलब है कि गत दिनांक 28 अगस्त 2022 की शाम को करीब 4.00 बजे हर्ष उर्फ फजलू 6 वर्षीय पुत्र आसिफ कुरैशी निवासी ऊंची दनकौर अचानक लापता हो गया था। परिजनों ने बच्चे के लापता हो जाने की सूचना पुलिस को दी और रात भर खुद भी तलाशते रहे। दूसरे दिन पता चला कि ईंट भट्ठे पास गहरे पानी में एक बच्चा का शव तैर रहा है। पुलिस मौके पर पहुंची और बच्चे के शव को निकाला। परिजनों ने मौके पर पहुंच कर बच्चे के शव की शिनाख्त हर्ष उर्फ फजलू के रूप में की। लापता हुए बच्चे की मौत की खबर से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई। उधर बच्चे की मौत से गुस्साए हुए परिजनों ने सिकंद्राबाद दनकौर रोड पर जाम लगा दिया। परिजनों की मांग की थी कि बच्चे की मौत के लिए जिम्मेदार आरोपियों की गिरफ्तारी तत्काल की जाए। मौके पर पहुंचे डीसीपी अभिषेक वर्मा, एसीपी बृजनंद राय पुलिस के आलाधिकारियों ने किसी तरह परिजनों को समझा बुझा कर शांत किया और बच्चे के शव को पोस्टर्माट के लिए भेज दिया। बच्चे का पोस्टमार्टम के बाद शव कल मंगलवार 30 अगस्त-2022 की शाम को घर पहुंचा तो एक तरह से कोहराम मच गया।

>
परिजनों ने कहा कि जब तक बच्चे की मौत के लिए जिम्मेदार आरोपियों की गिरफ्तारी नही हो जाती, तब तक दफनाया नही जाएगा और थाने के सामने शव को रख कर प्रदर्शन करेंगे। इस पर एसीपी बृजनंद राय तत्काल मौके पर पहुंचे और परिजनों को किसी तरह समझा बुझा कर शांत कराया कि बच्चे के शव को दफना दें, आरोपियों की जल्द ही गिरफ्तारी सुनिश्चित होगी। तब पुलिस की मौजूदगी में बच्चे के शव को ऊंची  दनकौर स्थित कब्रिस्तान में दफनाया गया। परिजनों का आरोप है कि बच्चे की मौत एक साजिश के तहत हुई है। कुछ दिन पहले ही पडोस के कुछ लोगों से कुत्ते को लेकर विवाद हुआ था। विवाद में  कुत्ते की मौत हुई थी, तब से उक्त लोग उनसे दुश्मनी मानते चले रहे हैं। उन्हें पूरा शक है कि उक्त लोग ही बच्चे की मौत की साजिश में शामिल हैं। उक्त विपक्षी लोगों को नामजद कराते हुए लिखित शिकायत पुलिस को दी गई है।  शुक्रवार को पीडित परिजन और समाज के बुजुर्ग लोग थाना पहुंचे और पुलिस का घेराव किया।
>
पुलिस का घेराव कर रहे लोगों का कहना था कि बच्चे की मौत की गुत्थी अभी सुलझाई नही है और ही नामजद आरोपियों की कोई गिरफ्तारी की गई है, इससे उनके सब्र का बांध जवाब दे रहा है। इस पर थाना प्रभारी राधा रमण सिंह ने परिजनों को आश्वासन दिया कि बच्चे की मौत की गुत्थी को जल्द ही खोल दिया जाएगा, पुलिस बच्चे के कातिलों तक पहुंचने ही वाली है, बस थोडा और सब्र रखें। पुलिस का घेराव करने वालो में हामिद ठेकेदार, डा0 हबीब कुरैशी, हाजी नूर कुरैशी, आरिफ, हासिम, इस्लाम मुल्लाजी, अतिक मुल्लाजी, साबू कुरैशी, बाबू कुरैशी, रहीस कुरैशी, कुरैशी, इश्ताक, सलीम, आकिल कुरैशी आदि लोग शामिल रहे।