BRAKING NEWS

6/recent/ticker-posts

Header Add

संयुक्त किसान मोर्चा मोर्चा के तत्वाधान में 75 घंटे का धरना जिला मुख्यालय सूरजपुर पर संपन्न


>
प्रधानमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन जिलाधकारी गौतमबुद्धनगर के माध्यम से प्रेषित किया
>
विजन लाइव /ग्रेटर नोएडा
संयुक्त किसान मोर्चा मोर्चा के तत्वाधान में 75 घंटे का धरना जिला मुख्यालय सूरजपुर पर आज भारतीय किसान यूनियन ने किया समाप्त किया गया। इस मौके पर प्रधानमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन जिलाधकारी गौतमबुद्धनगर के माध्यम से प्रेषित किया गया। भारतीय किसान यूनियन ने प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन में अवगत कराया है कि लखीमपुर खीरी में किसानों का 3 दिन का एक बड़ा विरोध धरना 18 से 20 अगस्त को आयोजित हुआ। इस धरने में 9 दिसंबर 2021 के बाद सरकार के साथ हुई पत्रावली व सरकार द्वारा किसानों की मांगों से संबंधित किए गए सभी कदमों पर विस्तार से चर्चा हुई। इस चर्चा के आधार पर संयुक्त किसान मोर्चा आपसे एक बार पुन: निवेदन करता है कि आप शेष मांगों को हल करने के लिए तुरंत ठोस कदम उठाएं। यह मांगे हैं :

1. लखीमपुर खीरी जिला के तिकोणिया में चार किसानों और एक पत्रकार की हत्या करने की साजिश रचने के मामले में दोषी केन्द्रीय गृह  राज्य मंत्री अजय मिश्र टैनी को मंत्रिमंडल से बर्खास्त किया जाए और गिरफ्तार करके जेल भेजा जाए।
2. लखीमपुर खीरी हत्याकांड में जो किसानों को निर्दोष होते हुए भी जेल में बंद किया है उनको तुरन्त रिहा किया जाए और उनके ऊपर मढ़े केस तुरन्त वापस लिए जाएं। शहीद किसान परिवारों एवं घायल किसानों को मुआवजा देने सरकार वादा पूरा करे।
>
3. सभी फसलों के ऊपर स्वामीनाथन कमीशन की सिफारिशों के आधार पर सी-2 +50% के फार्मूले से एमएसपी की गारंटी का कानून बनाया जाए। केन्द्र सरकार द्वारा एम एसपी पर गठित कमेटी व उसका घोषित एजेंडा किसानों द्वारा प्रस्तुत मांगों के विपरीत है। इस कमेटी को रद्द करते हुए सभी फसलों की बिक्री एमएसपी पर होने की गारंटी के लिए समिति का गठन दोबारा किया जाए।
4. किसान आन्दोलन के दौरान केन्द्र शासित प्रदेशों व अन्य राज्यों में जो केस किसानों के ऊपर लादे गए, सभी तुरंत वापस लिए जाएं। 
5. जनविरोधी बिजली बिल 2022 वापस लिया जाए।
इस मौके पर पवन खटाना ,मटरू नागर ,बेली भाटी, अनित कसाना ,राजीव मलिक , राजे प्रधान, राजमल सिंह, सुनील प्रधान, धर्मपाल स्वामी, महेश खटाना, योगेश भाटी, शरीफ खां, इंद्रेश, सुंदर खटाना ,संदीप खटाना, चंद्रपाल बाबूजी, ललित चौहान, राजू चौहान, फिरे राम तौगर , मोहित लोहिया, साकिर सैफी ,हरिंदर बैंसला, जित्ते बैसला,  पप्पी बैसला, धीरज नंबरदार, अनिल ,सुरेंद्र नागर, नवल प्रधान, प्रदीप ,हरलाल, सोनू ठेकेदार ,रोबिन नागर, विपिन तंवर, डॉक्टर जगदीश ,ज्ञानी प्रधान ,सत्ते भाटी, विश्वास गुर्जर ,मोहित प्रधान, विजय अत्री ,सतीश चौधरी, किशोरीलाल, कैलाश ,वीरेंद्र नंबरदार, महेश भाटी, मलखान बैरागी  नवनीत खटाना ,रविंद्र भाटी, प्रमोद टाइगर, मांगेराम प्रधान ,विपिन ,अकके भाटी ,अजब सिंह  धनपाल सिंह, राकेश भाटी आदि सैकड़ों किसान कार्यकर्ता मौजूद रहे।