BRAKING NEWS

6/recent/ticker-posts

Header Add

दनकौर में प्रति वर्ष की भांति श्री कृष्ण जन्मोत्सव मेला-2022, 19 अगस्त-2022 से होगा शुरू

 

>

दंगल के अखिरी दिन 96 किग्रा एवं 125 किग्रा भार वर्ग तक के पहलवान कुश्तियों में भाग ले सकेंगे। इस दिन 11000/- रूपये की 2 कुश्ती, 21000/- रूपये की 1 कुश्ती और फिर 51000/- रूपये की 1 कुश्ती हांगी

सुरक्षा की दृष्टि से पर्याप्त पुलिस बल और सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। इसके साथ ही कोविड-19 गाइड लाईन को देखते हुए 65 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों, गर्भवती महिलाएं और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों का प्रवेश मेले में वर्जित रखा गया है। ऐसे सभी लोगों को घर पर ही सुरक्षित रहने की सलाह दी जाती हैः रजनीकांत अग्रवाल प्रबंधक श्री द्रोण गौशाला मेला समिति

 

>

25 अगस्त-2022 को नाटक श्री कृष्ण अर्जुन युद्ध, 26 अगस्त-2022 को नाटक श्री अमर सिंह राठौर, 27 अगस्त-2022 को नाटक महारानी किरणमई, 28 अगस्त-2022 को नाटक श्री सीता स्वंयर और अंतिम दिन 29 अगस्त-2022 को नाटक वीर अभिमन्यु का मंचन रात्रि 10 बजे से किया जाएगा

 मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/ग्रेटर नोएडा

कोरोना महामारी के लंबे अंतराल के बाद धीरे धीरे सामाजिक, धार्मिक और सांस्कृतिक गतिविधियां शुरू हो रही हैं। गौतमबुद्धनगर में सूरजपुर बाराही मेला-2022 के बाद अब दनकौर में वर्षो से लगाता चला आ रहा श्री कृष्ण जन्मोत्सव मेला भी इस बार शुरू होने जा रहा है। श्री द्रोण गौशाला समिति ने श्री कृष्ण जन्मोत्सव मेला-2022 की तैयारियां जोर शोर शुरू कर दी हैं। श्री बाबा गुरू द्रोणाचार्य मंदिर और मेला स्थल को रंगाई पुताई कर सजाया जा रहा है। कोविड-19, वर्ष 2019 के लंबे अंतराल के बाद इस बार 19 अगस्त-2022 से श्री कृष्ण जन्मोत्सव मेला-2022 शुरू हो रहा है और जो पूरे 11 दिन में जाकर संपन्न होगा। श्री कृष्ण जन्मोत्सव मेला-2022 में प्रति वर्ष की भांति इस बार भी देश भर से कई नामी पहलवान श्री द्रोण तालाब में अपनी मल्ल कला का प्रदर्शन करते नजर आएंगे। वहीं रात्रिकालीन कार्यक्रमों की श्रंखला में भजन संध्या से लेकर कृष्ण लीला बडे पर्दे पर और साथ ही क्षेत्रीय स्कूलों के बच्चों द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे। वहीं श्री द्रोण नाटय मंडल अपने 99 वर्षीय विशाल रंग मंच पर धार्मिक, सामाजिक, ऐतिहासिक नाटक, गीत संगीत, नृत्य और अनेक मनोहर दृश्य दृश्यावलियों कई नयनाभिराम कार्यक्रम प्रस्तुत करेगा। रविवार को श्री द्रोणाचार्य स्नातकोत्तर महाविद्यालय के सभागार में श्री द्रोण गौशाला समिति ने एक पत्रकार वार्ता आयोजित कर श्री कृष्ण जन्मोत्सव मेला-2022 के कार्यक्रमों की जानकारी दी। 

>

पत्रकारों को संबोधित करते हुए श्री द्रोण गौशाला समिति के प्रबंधक रजनीकांत अग्रवाल ने कहा कि कोरोना महामारी के लंबे अंतराल के बाद इस बार 99 वां वार्षिक, श्री कृष्ण जन्मोत्सव मेला-2022 शुरू होने जा रहा है। इस बार श्री कृष्ण जन्मोत्सव मेला-2022 का आयोजन 19 अगस्त-2022 से लेकर 29 अगस्त-2022 तक हो रहा है। उन्होंने कहा कि दनकौर में प्रति वर्ष होने वाला प्रसिद्ध सामाजिक, धार्मिक एवं शिक्षाप्रद मेला जो सर्वश्रेष्ठ भगवान श्री कृष्ण की याद में उन्हीं के जन्म दिवस पर मनाया जाता है। इस वर्ष श्री कृष्ण जन्मोत्सव मेला-2022,दिन शुक्रवार 19 अगस्त-2022 से शुरू होगा। इस दिन भजन संध्या पूज्य साध्वी दीदी दुर्गेश्वरी नंदनी द्वारा प्रस्तुत की जाएगी। इसके साथ ही श्री कृष्ण भजन कीर्तन श्री द्रोणाचार्य मंदिर में होंगे। जब कि 20,21 और 22 अगस्त-2022 को रात्रि 8.00 बजे श्री कृष्ण लीला बडे पर्दे पर प्रदर्शित होगी। वहीं 21,22 और 23 अगस्त-2022 को विशाल दंगल श्री द्रोण तालाब में होगा। इनमें 21 अगस्त-2022 को 57 किग्रा से लेकर 65 किग्रा भार वर्ग के पहलवान दंगल में भाग ले सकेंगे और 5100/- रूपये,11000/- रूपये से लेकर 21000/-रूपये तक की इनामी कुश्तियां होगीं। इसी प्रकार 22 अगस्त-2022 को 74 किग्रा एवं 86 किग्रा भार वर्ग के पहलवान कुश्तियों में भाग ले सकेंगे।

>
>

 इस दिन 7100/- रूपये की 2 कुश्ती, 11000/- रूपये की 1 कुश्ती और 31000/- की 1 कुश्ती होगीं। दंगल के अखिरी दिन 23 अगस्त-2022 को 96 किग्रा एवं 125 किग्रा भार वर्ग तक के पहलवान कुश्तियों में भाग ले सकेंगे। इस दिन 11000/- रूपये की 2 कुश्ती, 21000/- रूपये की 1 कुश्ती और फिर 51000/- रूपये की 1 कुश्ती हांगी। उन्होंने बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से पर्याप्त पुलिस बल और सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। इसके साथ ही कोविड-19 गाइड लाईन को देखते हुए 65 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों, गर्भवती महिलाएं और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों का प्रवेश मेले में वर्जित रखा गया है। ऐसे सभी लोगों को घर पर ही सुरक्षित रहने की सलाह दी जाती है। श्री द्रोण नाटय मंडल के अध्यक्ष मनोज कुमार त्यागी ने बताया कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों की श्रंखला में श्री कृष्ण लीला बडे पर्दे पर आयोजित की जाएगी। साथ ही 23 और 24 अगस्त-2022 को श्री द्रोण नाटय मंडल के रंग मंच पर क्षेत्रीय स्कूलों के बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि श्री द्रोण नाटय मंडल द्वारा विशाल रंग मंच पर पारसी कला शैली के सामजिक, धार्मिक और ऐतिहसिक नाटकों का भी मंचन किया जाएगा। 

>

इनमें 25 अगस्त-2022 को नाटक श्री कृष्ण अर्जुन युद्ध, 26 अगस्त-2022 को नाटक श्री अमर सिंह राठौर, 27 अगस्त-2022 को नाटक महारानी किरणमई, 28 अगस्त-2022 को नाटक श्री सीता स्वंयर और अंतिम दिन 29 अगस्त-2022 को नाटक वीर अभिमन्यु का मंचन रात्रि 10 बजे से किया जाएगा। इस मौके पर पत्रकार वार्ता में सुशील बाबा, प्रदीप गर्ग, ओमप्रकाश अग्रवाल, अनिल सिंघल, पुष्कर, मनीष सिंघल, मुकुल बंसल आदि पदाधिकारीगण उपस्थित रहे।