>
>

मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/ग्रेटर नोएडा

गौतमबुद्धनगर एडीएम की शिकायत मुख्यमंत्री को संबोधित एक पत्र में की गई है। यह शिकायती पत्र डीएम गौतमबुद्धनगर और साथ ही डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन गौतमबुद्धनगर को भी दिया गया है। पीडित ने शिकायत पत्र में कहा है कि एडीएम फाइनेंस बिना स्थल निरीक्षण की रिपोर्ट आए ही आदेश के लिए पत्रावली नियत कर दी है, जो कि विधि विरूद्ध भी है। शिकायतकर्ता ने मुख्यमंत्री से पत्र में मांग की है कि एडीएम फाइनेंस के खिलाफ न्यायोचित कार्यवाही अमल में लाई जावे। शिकायकर्ता पुष्पेन्द्र व सतेन्द्र पुत्रगण अजीत निवासीगण ग्राम दादूपुर ने मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के नाम लिखे पत्र में अवगत कराया है कि गौतमबुद्धनगर की एडीएम फाइनेंस द्वारा मनमाने एवं विधि विरूद्ध आदेश पारित किए जा रहे हैं। शिकायत पत्र में यह भी अवगत कराया गया है कि एडीएम फाईनेंस की अदालत में सरकार बनाम पुष्पेन्द्र आदि अर्न्तगत धारा 33/47ए. स्टाम्प अधिनियम वाद स. 30/2015 ग्राम अमरपुर विचाराधीन है। जिसमें स्थल की आख्या श्रीमान न्यायालय द्वारा श्रीमान तहसीलदार सदर से मंगवायी थी। किंतु बिना मौके की रिपोर्ट आए उक्त वाद में आदेश पारित करने हेतु पत्रावली नियत कर दी है। जिसकी बावत अधिवक्ता देवेन्द्र सिंह रावल द्वारा प्रार्थना पत्र भी दिया गया है। यदि बिना मौके की रिपोर्ट आए हुए ही आदेश पारित किए जाते हैं तो यह न्यायोचित नही होगा। अतः श्रीमान जी से प्रार्थना है कि एडीएम फाइनेंस गौतमबुद्धनगर के विरूद्ध न्यायोचित कार्यवाही करने की कृपा करे, ताकि जनता को न्याय मिल सके। शिकायतकर्ता द्वारा उक्त पत्र की प्रतियां डीएम गौतमबुद्धनगर और साथ ही डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन गौतमबुद्धनगर को दी गई हैं। उधर मामले में पक्ष जानने के लिए डीएम गौतमबुद्धनगर सुहास एलवाई से मोबाइल नंबर.- 9454417564 पर संपर्क किया गया, मगर बातें नही हो सकीं।