BRAKING NEWS

6/recent/ticker-posts

Header Add

किसान एकता संघ के पदाधिकारियों ने उत्तर प्रदेश अध्यक्ष चौधरी शौकत अली चेची के नेतृत्व में मांग पत्र एसडीएम को सौंपा

 

>


13 महीने दिल्ली के बॉर्डर और देश में अनेक जगह शांति प्रिय किसानों के आंदोलन को गोदी मीडिया, केंद्र सरकार अंध भक्तों ने अनाप-शनाप बयानों व तानाशाही रवैया से अपमानित किया, फिर भी केंद्र सरकार द्वारा कमेटी गठित करने का आश्वासन देकर किसानों की सभी मांगों को पूरी करने का आश्वासन दिया अन्नदाता ने भरोसा कर धरना स्थगित कर दिया 6 महीने बीत जाने के बाद भी केंद्र सरकार अपने वादे पर खरी नहीं उतरी बल्कि ट्यूबेल पर जबरन मीटर लगाए जा रहे हैं, जो 2020 कानून का उल्लंघन है- चौधरी शौकत अली चेची उत्तर प्रदेश अध्यक्ष किसान एकता संघ

विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा

किसान एकता संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी सोरन प्रधान के आदेश अनुसार किसान एकता संघ के पदाधिकारियों ने उत्तर प्रदेश अध्यक्ष चौधरी शौकत अली चेची के नेतृत्व में सूरजपुर कलेक्ट्रेट जिला अधिकारी गौतमबुद्धनगर ( यूपी ) द्वारा महामहिम राष्ट्रपति भवन नई दिल्ली -110004 के नाम मांग पत्र एसडीएम को सौंपा, जिसमें सभी फसलों पर एम.एस.पी.गारंटी कानून बनाने एव अगिनपथ योजना वापसी समेत 16 मांगे रखी गई। उत्तर प्रदेश अध्यक्ष चौधरी शौकत अली चेची ने बताया कि  13 महीने दिल्ली के बॉर्डर और देश में अनेक जगह शांति प्रिय किसानों के आंदोलन को गोदी मीडिया, केंद्र सरकार अंध भक्तों ने अनाप-शनाप बयानों व तानाशाही रवैया से अपमानित किया, फिर भी केंद्र सरकार द्वारा कमेटी गठित करने का आश्वासन देकर किसानों की सभी मांगों को पूरी करने का आश्वासन दिया अन्नदाता ने भरोसा कर धरना स्थगित कर दिया 6 महीने बीत जाने के बाद भी केंद्र सरकार अपने वादे पर खरी नहीं उतरी बल्कि ट्यूबेल पर जबरन मीटर लगाए जा रहे हैं, जो 2020 कानून का उल्लंघन है। श्री कृष्ण बैसला  ने कहा केंद्र सरकार अगर किसानों की जायज मांगों पर अमल नहीं करेगी तो माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी सोरन प्रधान व संयुक्त किसान मोर्चा आगे की जो रणनीति बनाएंगे हम सभी उस आदेश का पालन करेंगे। 

>
इसी प्रकार  किसानों की अन्य मांगे (1) सभी फसलों पर एम.एस.पी. गारंटी कानून बनाया जाए,(2) आंदोलन के दौरान शहीद किसानों को मुआवजा (3) किसानों पर दज॔  मुकदमो की बिना शर्त वापसी,(4) गन्ना किसानो का बकाया भुगतान ब्याज सहित, किया जाए (5)आवारा पशुओं से किसानो की फसलों का बचाव (6) फसलों का नुकसान आदि की अकस्मात  छति होने पर मुआवजा,(7) किसानों को करमुक्त डीजल,(8) किसानों के ऋण और बिजली बिल बकाया माफ किए जाए,(9) मनरेगा को कृषि से जोड़ा जाए (10) किसानों को बैंक द्वारा बिना ब्याज कर्ज 10 लाख रुपए दिए जाएं (11) दुग्घ उत्पादक किसानों को उचित रेट दिया जाए (12)  बागवानी की खेती मैं लाभकारी सुधार किया जाए (13)दो से ज्यादा पशु पालने पर कमर्शियल बिजली कनेक्शन रद्द किया जाए (14)10 साल पुराने ट्रैक्टर की लिमिट को समाप्त किया जाए (15) पराली जलाने पर प्रतिबंध पूरी तरह हटाया जाए ट्यूबेल की बिजली पूरी तरह फ्री की जाए (16) किसान एकता संघ संगठन युवाओं के साथ अग्निवीर योजना की वापसी की मांग करता है। इस मौके पर मुख्य रूप से श्रीकृष्ण बैसला, सतीश बनारसी ,अजीत नागर, त्रिलोक नागर, विक्रम अट्टा, पवन एडवोकेट, उमर प्रधान ,आशु अट्टा, विक्रम प्रधान, विक्रम नागर, रोहित कुमार, चौधरी शौकत अली चेची, मुकेश शर्मा, आदि संगठन के कार्यकर्ता उपस्थित रहे।