बार और बैंच के बीच सामजस्य स्थापित किया जाना बेहद जरूरीः उमेश भाटी एडवोकेट

विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

गौतमबुद्धनगर में एक बार फिर बार और बैंच के बीच सद्भाव कायम हुआ है। गौरतलब है कि हाल में तहसीलदार और डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन कलट्रेक्ट सूरजपुर के पूर्व अध्यक्ष अनिल भाटी समेत कई अधिवक्ताओं के बीच बवाल हो गया था। तहसीलदार ने इस मामले में अधिवक्ताओं के खिलाफ एफआईआर कराई थी। उधर डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन कलट्रेक्ट सूरजपुर के पूर्व अध्यक्ष अनिल भाटी व अधिवक्ता पक्ष की ओर से नकल न देने समेत कई तरह के आरोप लगाए गए थे। इस मामले में डीएम सुहास एलवाई, डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन कलट्रेक्ट सूरजपुर के पूर्व अध्यक्ष चौ0 जयपाल भाटी और गौतमबुद्धनगर दीवानी एवं फौजदारी बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सुशील भाटी और जिले की विभिन्न बार की पहल पर एक बार फिर विवाद समाप्त होकर बार और बैंच के बीच सद्भाव कायम हुआ हैं।

>
गौतमबुद्धनगर दीवानी एवं फौजदारी बार एसोसिएशन बार अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार उमेश भाटी एडवोकेट ने बताया कि बार और बैंच के बीच सामजस्य स्थापित किया जाना बेहद जरूरी है। तहसीलदार और अधिवक्तओं के बीच जो भी कुछ हूआ बेहद दुर्भाग्य पूर्ण घटना थी। किंतु यह मामला अब समाप्त हो गया है और एक बार फिर बार और बैंच के बीच सद्भाव कायम हुआ हैं। बार और बैंच के बीच तनावपूर्ण स्थिति होने से त्वारित और सस्ता न्याय नही मिल पाता है। उन्होंने कहा कि गौतमबुद्धनगर में अधिवक्ताओं की कई तरह की समस्याएं है, जिन्हें पटल तक पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है और जिनमें चैंबर निमार्ण जैसी प्रमुख समस्याएं भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि चैंबर निमाण की प्रक्रिया में बार एसोसिएशन के वर्तमान पदाधिकारियों का भी प्रबल सकरात्मक सहयोग मिल रहा है।