>
>
>

विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

शारदा विश्वविद्यालय ने आज सद्गुरु का स्वागत अपने कैंपस में किया। सभी छात्र छात्राओं में सदगुरु के आने पर एक अलग सा जोश दिख रहा था, करीब 3000-3500 बच्चे इस कार्यक्रम का आनंद ले रहे थे। सद्गुरु ने बच्चो , प्रोफेसर और अन्य मौजूद लोगों को मिट्टी को बचाने के बारे में बताया।  उन्होंने  बताया कि मार्च 2022 में उनके द्वारा एक वैश्विक पर्यावरण अभियान शुरू किया गया था जिसे  - सेव सॉयल मूवमेंट कहा जाता है; जिसका मुख्य उद्देश्य  दुनिया के 60% मतदाताओं के बीच मिट्टी की गंभीर स्थिति के बारे में जागरूकता पैदा करना है और आवश्यक सरकारी नीति परिवर्तनों को उत्प्रेरित और समर्थन करना है। सद्गुरु ने एक अकेले मोटरसाइकिल चालक के रूप में, 27 देशों में 30,000 किलोमीटर की सवारी करने के बाद - लंदन से दक्षिणी भारत तक, कम से कम 3.5 अरब नागरिकों तक अपनी बात पहुंचा चुके है। इस आंदोलन को भारत के विदेश मंत्रालय,  कई विश्व-प्रसिद्ध प्रभावकों और  दिल्ली के प्रमुख  निगमित मुख्यालय तक  पहुंचा चुके है आज उन्होंने अपनी बात छात्र छात्राओं  के सामने रखी। गौतमबुधनगर के जिला अधिकारी ने बताया कि इस अभियान के जरिए लोगों को मिट्टी से प्यार करने और उसे बचाने का संदेश मिलेगा। उन्होंने कहा कि मिट्टी  से प्यार करो और उसे बचाओ,  ये मिट्टी इंसान, पशुओं, पर्यावरण और इस पूरे ब्रह्मांड के लिए वरदान हैं ,और हमे इसे बचाकर रखना है। शारदा विश्विद्यालय के चांसलर पीके गुप्ता ने बताया कि इस कार्यक्रम से  हमारे बच्चो में पर्यावरण के प्रति जागरूकता बढ़ेगी और वह सद्गुरु द्वारा बताई बातो  को ध्यान में रखते हुए अपने आने वाले कल के लिए मिट्टी बचा सके और प्रकृति में एक संतुलन बना देख सके। इस कार्यक्रम में मौजूद सद्गुरु का स्वागत करने के लिए शारदा विश्वविद्यालय के कुलपति -सिबाराम खारा,  पीआर डायरेक्टर- अजीत कुमार, कुलसचिव- विवेक गुप्ता, प्रोफेसर और विद्यार्थी रहे।