>

 

>

हत्यारों के पीछे कौन सी ताकते हैं उनका भी पर्दाफाश होना चाहिए एवं इस घटना की जांच सीबीआई या अन्य किसी केन्द्रीय एजेंसी से कराई जानी चाहिए- सतेन्द्र राघव हिन्दू जागरण के प्रान्त बेटी बचाओ प्रमुख

विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा

राजस्थान के उदयपुर शहर में एक हिन्दू युवक कन्हैया लाल तेली की दिनदहाड़े आतंकवादियों द्वारा गला काटकर नृशंस हत्या की गई, उसके विरोध स्वरूप जिले के सामाजिक / धार्मिक संगठनों ने आंतरिक सुरक्षा समिति के तत्वावधान में जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा। इस अवसर पर हिन्दू जागरण के प्रान्त प्रचार प्रमुख चन्द्रपाल प्रजापति, हिन्दू जागरण के प्रान्त बेटी बचाओ प्रमुख सतेन्द्र राघव, राष्ट्रीय प्रजापति महासंघ के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रमोद प्रजापति सहित अन्य लोग उपस्थित रहे। हिन्दू जागरण के प्रान्त बेटी बचाओ प्रमुख सतेन्द्र राघव ने कहा कि इस घटना में हत्या आरोपी खुलेआम धार्मिक नारे लगा रहे हैं और देश के प्रधानमंत्री की भी हत्या करने की खुली धमकी दे रहे हैं, जोकि बहुत गंभीर बात है।


>
 इन हत्यारों के पीछे कौन सी ताकते हैं उनका भी पर्दाफाश होना चाहिए एवं इस घटना की जांच सीबीआई या अन्य किसी केन्द्रीय एजेंसी से कराई जानी चाहिए। इस घटना को अंजाम देने का उद्देश्य देश के हिन्दू समाज को भयभीत करना भी है।  इस घटना से देश के हिन्दू समाज में भय व्याप्त हुआ है, अतः फतवा देने वाले और हिन्दू समाज को धमकी देने वाले जेहादी मानसिकता के लोगों के खिलाफ देश में कड़े कानून बनाने की जरूरत है। चन्द्रपाल प्रजापति ने कहा कि इस तरह की घटना राज्य की कानून व्यवस्था को खुली चुनौती है हत्यारों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लानी चाहिए। राजस्थान में जब से कांग्रेस सरकार बनी है तभी से लगातार हिन्दुओं पर हमलों की घटना हो रही हैं जिससे लगता है कि हिन्दुओं पर हमला करने वाले एक संप्रदाय विशेष के लोगों को राजस्थान सरकार और प्रशासन का संरक्षण प्राप्त है अतः ऐसी सरकार को बर्खास्त किए जाने की आवश्यकता है। इस अवसर पर सुरेन्द्र पाल, अमरजीत सिंह, जयप्रकाश सिंह, संजय गुप्ता, कुलदीप, नितिन नागर, प्रदीप जायसवाल, नितिन रॉय, मनोज कुमार, अनुज सिसोदिया, सचिन जादोन, मनीष कुमार, नवीन राणा, अभिषेक भारद्वाज, मनीष नागर, सुरेश प्रजापति, श्यामू पाठक, दिग्विजय तिवारी, पशुपतिनाथ उपाध्याय, राजू मीणा, कपिल भाटी, विकास राणा, श्रीमती महिमा पांडे, श्रीमती वीना अरोड़ा, श्रीमती प्रतिमा राघव सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।