16 वें इंडियन फैशन ज्वैलरी एंड एसेसरीज फेयर (आईएफजेएएस) 2022

16वें भारतीय फैशन ज्वैलरी और एक्सेसरीज शो में सर्वश्रेष्ठ डिजाइन और प्रदर्शन पुरस्कार समारोह,  उत्पाद की उत्कृ्ष्ठ प्रस्तुति के लिए प्रदर्शक सम्मानित  
आयोजन में 50+देशों के खरीदारों के साथ शानदार दो दिन

विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा
भारतीय फैशन ज्वैलरी और एक्सेसरीज़ शो ने पहले दो दिनों के दौरान ही गति पकड़ ली। इस गतिशीलता में प्रदर्शकों ने देश विदेश के खरीदारों सें संवाद संपर्क और व्यापार की संभावनाओं की तलाश की, कारीगरों ने इस व्यापार मंच का उपयोग अपने सर्वोत्तम लाभ और व्यापारिक सीख के लिए किया, उत्पादों के साथ कई प्रतिभागियों, प्रदर्शकों द्वारा रैंप प्रस्तुतिकरण शो जैसे कई घटक शामिल हैं। इस अवसर पर हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद (ईपीसीएच) के महानिदेशक श्री राकेश कुमार ने जानकारी दी कि इस अवसर पर भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों के अतिथि, जेवर के विधायक श्री धीरेंद्र सिंह, ने शो का दौरा कर आयोजन को विभूषित किया। आईएफजेएएस (इफ्जास) के दूसरे दिन की विशेषताओं में से एक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पुरस्कार समारोह का आयोजन भी रहा शो में सराहनीय उत्पाद प्रस्तुति के लिए प्रदर्शकों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर इफ्जास-2022 की स्वागत समिति के अध्यक्ष संदीप छाबड़ा, ईपीसीएच के महानिदेशक राकेश कुमार,  इफ्जास-2022 की स्वागत समिति के उपाध्यक्ष हितेश आहूजा, ईपीसीएच के कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन (प्रशासन समिति के सदस्य)प्रदर्शकों, विदेशी खरीदारों और कारीगरों की भी गरिमामयी उपस्थिति रही। 
इंडिया एक्सपो सेंटर में  अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस भी पूरे उत्साह के साथ मनाया गया। कई योग उत्साही शरीर और दिमाग के अच्छे स्वास्थ्य के लिए अपनी प्रतिबद्धता दिखाने के लिए इस आयोजन में शामिल हुए । इस अवसर पर एक प्रशिक्षित एवं प्रमाणिक योग प्रशिक्षक के नेतृत्व में इस सत्र का आयोजन किया गया। ईपीसीएच की फिटनेस एंड स्पोर्ट्स कमेटी- फास्को के श्री प्रिंस मलिक ने बताया कि  सत्र का उद्देश्य स्वास्थ्य और कल्याण के लिए एक समग्र दृष्टिकोण के रूप में योग को मान्यता देना और दैनिक आधार पर इसका अभ्यास करने के लाभों के बारे में जागरूकता बढ़ाना था। इस अवसर पर ईपीसीएच के महानिदेशक राकेश कुमार ने कहा, “पहले दो दिनों के दौरान अच्छी संख्या में खरीदारों ने मेले का दौरा किया। खरीदारों ने मेले में अपने नियमित और नए आपूर्तिकर्ताओं को ऑर्डर देने में अपनी रुचि साझा की। इसके साथ ही उन्होंने लगभग दो साल के अंतराल के बाद इस शो को भौतिक रूप में देखने में सक्षम होने पर प्रसन्नता भी व्यक्त की है। इनमें से बहुत से खरीदारों ने कई वर्षों से आईएफजेएएस -इफ्जास में निर्माताओं से सोर्सिंग के लिए अपनी प्राथमिकता के बारे में खुलकर बात की।,” संयुक्त राज्य अमेरिका के एक क्रेता, जेरी मिलर, जो भारत से फैशन के सामान और परिधानों की सोर्सिंग कर रहे हैं, ने कहा, “इस शो ने मुझे नए आपूर्तिकर्ता खोजने में बहुत मदद की है, जिनमें से कई का मेरे साथ दीर्घकालिक जुड़ाव हो गया है। गुणवत्ता और अद्वितीय डिजाइन के कारण भारतीय उत्पादों में बाजार में छा जाने की बहुत संभावनाएं हैं। मैं हर बार जब भी यहां जाता हूं तो ऐसे शानदार उत्पादों को खोजने की कोशिश करता हूं। ”
यूनाइटेड किंगडम के केटी विलियमसन और टॉम बेट्स ने कहा, “यह हमारे लिए एकदम सही शो है। हम भारत से 5 वर्षों से आयात कर रहे हैं और हर बार  इसका विस्तार करना हमें अच्छा लगता है। हमारे पास भारत से लगभग 10 नियमित आपूर्तिकर्ता हैं और हम हमेशा उनके साथ व्यापार बढ़ाना चाहते हैं, एक दूसरे के विकास में साझेदार बनना चाहते हैं। हमारी लगभग 95 प्रतिशत आपूर्ति भारत से होती है। मुझे ईपीसीएच द्वारा व्यवस्थित सुविधाएं पसंद हैं। इनमें अच्छा एसी,अच्छी कॉफी! प्रमुख हैं।" इफ्जास-2022 के स्वागत समिति के उपाध्यक्ष, हितेश आहूजा ने कहा, "  देश के कोने कोने से आई विशिष्ट और क्षेत्रीय भारतीय फैशन ज्वैलरी और एक्सेसरीज क्राफ्ट्स का प्रदर्शन इफ्जास में हो रहा है। ये प्रदर्शन अब बाजार और देश विदेश के क्रेताओं का  ध्यान आकर्षित कर रहा है।".  इस अवसर पर ईपीसीएच के कार्यकारी निदेशक आर.के वर्मा ने सूचित किया कि प्रदर्शित किए गए कुछ आभूषण शिल्पों का एक समृद्ध इतिहास है और उन्हें एक पारिवारिक परंपरा के रूप में जारी रखा जा रहा है, लेकिन इस परंपरागत हस्तशिल्प को आज के रुझानों के अनुरूप आधुनिक टच भी दिया जा रहा है। लम्बानी, मीनाकारी, जरदोजी, मनका शिल्प, नदी ईख की बुनाई, कांथा और कोल्हापुरी चमड़े के शिल्प और जूते  ऐसे ही कुछ उदाहरण हैं। इस अवसर पर बोलते हुए, इफ्जास-2022  स्वागत समिति के अध्यक्ष संदीप छाबड़ा ने बताया कि इफ्जास- 2022 में सर्वश्रेष्ठ डिजाइन और प्रदर्शन के लिए, फैशन ज्वैलरी और फैशन एक्सेसरीज सेगमेंट में अजय शंकर मेमोरियल अवार्ड्स वितरित किए गए।