>
>

ज्ञापन में भाकियू नेता राकेश टिकैत पर हुए हमले के संबंध में उच्चस्तरीय जांच करने और सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता करने की मांग की गई

 

>


विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक का धरना प्रदर्शन जिला मुख्यालय सूरजपुर गौतमबद्धनगर पर हुआ, जिसकी अध्यक्षता चौधरी बेगराज प्रधान ने एवं संचालन अशोक भाटी ने किया। इस मौके मांगों के संबंध में एक ज्ञापन एडीएम प्रशासन नितिन मदान और एसीपी पीपी सिंह को प्रधानमंत्री के नाम सौंपा गया। ज्ञापन में बेंग्लुरु में प्रेसवार्ता के दौरान भाकियू नेता राकेश टिकैत पर हुए हमले के संबंध में उच्चस्तरीय जांच करने और सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता करने की मांग की गई। मीडिया प्रभारी सुनील प्रधान ने बताया कि गत दिनांक 30 मई दिन सोमवार को कर्नाटक के बेंग्लुरु में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम किसान सम्मेलन में भाग लेने भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत और राष्ट्रीय महासचिव युद्धवीर सिंह पहुंचे थे। सम्मेलन से पहले गाँधी भवन में प्रेसवार्ता का आयोजन किया गया था, जिसको भाकियू नेता राकेश टिकैत संबोधित कर रहे थे। इस दौरान कुछ अवांछनीय तत्वों ने प्रेसवार्ता में अचानक पहुंचकर मंच के समीप जाकर राकेश टिकैत पर जानलेवा हमला कर दिया। उन्होंने काली स्याही भी उनके ऊपर फैंकी। इस दौरान वहां मौजूद किसानों ने उनको पकड़ लिया और हमलावरों ने कार्यकर्ताओं से भी हाथापाई की। दिए गए ज्ञापन में यह भी अवगत कराया गया है कि हमला किए जाने और स्याही फैंके जाने पर पुलिस की ओर से कोई सुरक्षा के प्रबंध नहीं किए गए थे और हमले के बाद भी पुलिस मूकदर्शक बनी रही। इस पूरे घटनाक्रम की घोर निंदा और मांग है कि इस पूरे प्रकरण की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए ताकि भविष्य में ऐसे वारदातों को रोका जा सके। साथ ही इस कृत्य में शामिल सभी लोगों को पर्दाफाश कर उनकी गिरफ्तारी सुनिश्चित कराई जाए वरना भारतीय किसान यूनियन देशभर में इस हमले के विरोध में आंदोलन करने को मजबूर होगी। इस मौके पर जिलाध्यक्ष अनित कसाना, एनसीआर अध्यक्ष सुभाष चौधरी, सुनील प्रधान, ललित चौहान, जय वीर नागर, अशोक भाटी, चाहत राम, राजे प्रधान, चंद्रपाल बाबूजी, धर्म सिंह, इंदरजीत कसाना, आदि किसान यूनियन के कार्यकर्तागण मौजूद रहे।