>
>

पुलिस जनता की मित्र है और जनता के लिए है। यदि कहीं भी कोई भी दिक्कत है तो बस एक कॉल करें पुलिस पल भर में ही जनता की मद्द के लिए हाजिर होगीः संतोष कुमार शुक्ला

 

>


 

मुस्लिम समुदाय ने पुलिस प्रशासन के ऊपर फूल बरसाए और ईदुल फितर की खुशियां बांटी

 


>

मरहूम साबिर सैफी बर्फी वालों के आवास पर संपन्न हुए ईद मिलन समारोह में कासना पुलिस ने मुस्लिम समुदाय के कौमी एकता के संदेश की जमकर सराहना की

 

>

 


 


>

 


पुलिस जनता की रक्षा के लिए होती है,कानून के रखवाले दिन रात एक कर जनता की रक्षा करते हैं इसलिए जनता का भी फर्ज बनता है कि कानून के इन रखवाले पुलिसकर्मियों को ईदुल फितर के त्यौहार के मौके पर खुशियों में शरीक कर इस्तकबाल किया जाना चाहिएः मुस्लिम समुदाय

 

>



मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/कासना

कासना में मुस्लिम समुदाय ने पुलिस प्रशासन के ऊपर फूल बरसाए और ईदुल फितर की खुशियां बांटीं। मरहूम साबिर सैफी बर्फी वालों के आवास पर संपन्न हुए ईद मिलन समारोह में कासना पुलिस ने मुस्लिम समुदाय के कौमी एकता के इस संदेश की जमकर सराहना की। वहीं मुस्लिम समुदाय ने कहा कि पुलिस जनता की रक्षा के लिए होती है,कानून के रखवाले दिन रात एक कर जनता की रक्षा करते हैं इसलिए जनता का भी फर्ज बनता है कि कानून के इन रखवाले पुलिसकर्मियों को ईदुल फितर के त्यौहार के मौके पर खुशियों में शरीक कर इस्तकबाल किया ही जाना चाहिए। कासना थानाध्यक्ष संतोष कुमार शुक्ला ने ईद मिलन समारोह को संबांधित करते हुए कहा कि कासना के मुस्लिम समुदाय ने ईद मिलन समारोह का आयोजन कर कौमी एकता और भाईचारे को मजबूत किए जाने का संदेश दिया है, जो तारीफ काबिल है। उन्हांंने कहा कि पुलिस की टीम पर इस कार्यक्रम में फूल बरसाए गए हैं इससे वाकई पुलिस का मनोबल बढा है।

>
उन्होंने कहा कि पुलिस जनता की मित्र है और जनता के लिए है। यदि कहीं भी कोई भी दिक्कत है तो बस एक कॉल करें, पुलिस पल भर में ही जनता की मद्द के लिए हाजिर होगी। शाही जामा मस्जिद के पेश इमाम हजरत मौलाना मुशिर आलम ने कहा कि ईदुल फितर का त्यौहार दिलों को मिलाने वाला है। ईद मिलन प्रोग्राम में पुलिस टीम का इस्तकबाल किया गया है, जब किसी मेहमान का इस्तकबाल किया जाता है तो खुदा वाकई खुश होता हैं। पुलिस महकमा भी पूरी कौम की हिफाजत में दिन रात लगा रहता है। हर शख्स के साथ खुशियां बांटना जरूरी है। नई जामा मस्जिद के पेश इमाम हाफिज मौहम्मद काशिफ ने कहा कि ईद मिलन समारोह में कासना पुलिस टीम के ऊपर फूल बरसा कर ईदुल फितर की खुशियां बांटी गई हैं, इसे कौमी एकता को बढावा मिलता है, आज के इस दौर में जिस प्रकार नफरत का मौहाल बढता जा रहा है। इस तरह के प्रोग्राम किया जाना निहायत जरूरी हैं। ईद मिलन समारोह के संयोजक इकबाल अहमद सैफी वल्द मरहूम साबिर सैफी बर्फी वालों ने कहा कि ईद मिलन समारोह होना आम बात है, मगर इस बार यहां पर पुलिस टीम का इस्तकबाल फूल बरसा कर किया गया है और साथ में ईदुल फितर की खुशियां बांटी गई है।
>
इससे समाज में कौमी एकता को बढावा देने का संदेश जाएगा। इंद्रजीत सिंह प्रधान ने कहा कि कासना ग्रेटर नोएडा ही नही बल्कि पूरे गौतमबुद्धनगर का एक ऐसा कसबा है जहां सभी 36 बिरादरियों के लोग रहते हैं और शांति सद्भाव यहां की खास पहचान है। ईद मिलन समारोह भी इसका एक खास उदाहरण है। सैफी संघर्ष समिति के जिलाध्यक्ष अयुब खान सैफी ने कहा कि कासना में जिस प्रकार ईद मिलन समारोह का आयोजन कर स्थानीय पुलिस प्रशासन की टीम पर फूल बरसा कर इस्तकबाल किया गया है। इससे कौमी एकता का संदेश दूर दूर तक जाएगा। मंच संचालन करते हुए अब्दुल रऊफ हिंदुस्तानी ने कहा कि ईद मिलन समारोह में कासना पुलिस प्रशासन की टीम का इस्तकबाल कर खुशियां बांटी गई हैं। पुलिस भी समाज का एक हिस्सा है, दिन रात एक कर पुलिस जनता की रक्षा करती है। इस मौके पर मौहम्मद आरिफ बैटरी वाले, मौहम्मद सलीम सैफी, सैयद मौहम्मद आबाद किराने वाले, गुड्डू भाई किराने वाले, नसीम उर्फ टीपू, हाजी शकील अहमद, ऋषि चपराना पहलवान, जमील सैफी, शमीम सैफी, हाजी शरीफ सैफी आदि गणमान्य लोग उपस्थित रहे।