>

>

डीएम दरबार में पहुंचा दनकौर में बाबा गुरू द्रोणाचार्य परिक्रमा मार्ग को बंद किए जाने का मामला

 

>

पत्र में मांगः- पुलिस ने विपक्षीगणों के खिलाफ कोई ठोस कार्यवाही अमल में लाने के बजाय उल्टा उनके खिलाफ 107,116 की कार्यवाही की और नोटिस आज नही भेजा। नोटिस भिजवाने के लिए पुलिस को आदेशित किया जावे और रास्ता पुनः चालू कराया जावे।

 


मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/गौतमबुद्धनगर

-----------------------------------------------दनकौर कसबा में बाबा गुरू द्रोणाचार्य परिक्रमा मार्ग को बंद किए जाने मामला एक फिर सुर्खियों में आ गया है। पीडित पक्ष की ओर से तहसील दिवस में अलग अलग शिकायतें की गई हैं और बंद हुए रास्ते को खुलवाने की मांग की गई है। जब कि वहीं पुलिस द्वारा 107, 116 की कार्यवाही किए जाने की भी शिकायत की गई है। दनकौर कसबा में तुलसीनगर बाईपास रोड स्नेहगार्डन के पीछे राधेश्याम प्रजापति पुत्र स्व0 इंद्रजीत सिंह का परिवार रहता है। डाढा स्थित सदर तहसील में संपन्न हुए तहसील दिवस मे राधेश्याम प्रजापति और पत्नी सुनीता ने अलग अलग शिकायत पत्र दिए थे। सुनीता देवी पत्नी राधेश्याम प्रजापति ने रास्ता खुलवाने की मांग करते हुए पत्र में कहा है कि लंबे अरसे से मकान तक जाने के लिए रास्ता बंद है मगर अभी तक खुल नही पाया है। रास्ते चालू करवाने के लिए हर रोज थाने से लेकर तहसील तक चक्कर काट रहे हैं। लेखपाल के द्वारा जांच आंख्या उल्टी सीधी लगाई जा रही है और रास्ता नही खोला जा रहा है। तत्काल रास्ता चालू करावाया जाए ताकि उन्हें अपने घर तक आने जाने में कोई परेशानी न हो। वहीं दूसरे पत्र में राधेश्याम प्रजापति ने कहा है कि दनकौर में इस स्थान पर वह करीब 30-40 वर्षो से रह रहा है। यहां से होकर बाबा गुरू द्रोणाचार्य की परिक्रमा भी निकाली जाती रही है। किंतु इन सबके बावजूद विपक्षीगणों द्वारा अचानक रास्ता जेसीबी चलवा कर बंद कर दिया गया है।

>
इस बात की शिकायत थाना पुलिस से लेकर आला अधिकारियों से की गई हैं। एसडीएम की ओर से तहसील अधिकारियों को मामले की जांच कर रास्ता चालू कराए जाने के आदेश दिए जा चुके हैं। मगर संबंधित लेखपाल विपक्षीगणों की शह पर उल्टी सीधे रिपोर्ट लगा कर आला अधिकारियों को लगातार गुंमराह कर रहे हैं। यही कारण है कि आज तक बंद हुआ रास्ता पुनः नही खुल पाया है। सुनीता देवी पत्नी राधेश्याम प्रजापति ने रास्ता खुलवाने की मांग करते हुए एक शिकायत पत्र फिर डीएम गौतमबुद्धनगर को जनता दरबार में दिया है। डीएम को शिकायत पत्र में अवगत कराया गया है कि थाना पुलिस ने उल्टा उनके खिलाफ मुचलकों में पाबंद किए जाने की कार्यवाही की। जब कि रास्ता बंद कर दिए जाने के तत्काल बाद पुलिस को सूचना दी गई और फिर इस कृत्य की रिपोर्ट दर्ज करवाने के लिए थाने पहुंचे और विपक्षीगण के खिलाफ शिकायत दी थी। मगर पुलिस ने विपक्षीगणों के खिलाफ कोई ठोस कार्यवाही अमल में लाने के बजाय उल्टा उनके खिलाफ 107,116 की कार्यवाही कर डाली और नोटिस आज नही भेजा है। पत्र में मांग की गई है कि नोटिस भिजवाने के लिए पुलिस को आदेशित किया जावे और रास्ता पुनः चालू कराया जावे। वहीं डीएम गौतमबुद्धनगर की ओर से शिकायर्ता सुनीता देवी पत्नी राधेश्याम प्रजापति और राधेश्याम प्रजापति पुत्र स्व0 इंद्रजीत सिंह को मामले में माकूल कार्यवाही किए जाने का भरोसा दिलाया गया है।