BRAKING NEWS

6/recent/ticker-posts

Header Add

एनओसी के फेर में जमीन खरीद्दार अफसरों के काट रहे हैं, चक्कर

 

>

यमुना अथॉरिटी ऐरिया की एनओसी के फेर में 36 लाख रूपये की धनराशि डूबी

 

>

>

 

सीएम को लिखे पत्र में महिला ने लुका छिपी के लिए जिम्मेदार अफसरांं के खिलाफ कार्यवाही करते हुए भूमि का बैनामा निष्पादित किए जाने की गुहार लगाई

 


मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/ग्रेटर नोएडा

गौतमबुद्धनगर में बैनामा निष्पादित किए जाने के लिए ग्रेटर नोएडा और यमुना अथॉरिटी की एनओसी जरूरी है। कई बार एनओसी समय पर न मिलने पर क्रेता और विक्रेता अजीब पेशोपेश में पड जाते हैं। ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है। एनओसी समय पर न मिलने पर एक क्रेता की लाखों रूपये की धनराशि यों ही डूब गई।


सीएम को लिखे पत्र में क्रेता ने इस लुका छिपी के लिए जिम्मेदार अफसरांं के खिलाफ कार्यवाही करते हुए भूमि का बैनामा निष्पादित किए जाने की गुहार लगाई है। 
श्रीमती शकुंतला देवी पत्नी श्री मुद्दगल निवासी 276 मुबारिकपुर गांव, साउथ वेस्ट दिल्ली हाल निवासी ग्राम लतीफपुर बांगर, जिलाः- गौतमबुद्धनगर ने सीएम को लिखे पत्र में अवगत कराया है कि खाता संख्या-81, खेत संख्या-212, रकबा 2.5470 है0 में से 1/3 भूमि स्थित ग्राम लतीफपुर बांगर, परगना दनकौर, तहसील व जिला गौतमबुद्धनगर दिनांक 12-02-2021 को क्रय की गई थी। यही नही उक्त भूमि कृषि क्रय हेतु 30 लाख रूपये विक्रेता को प्रतिफल की धनराशि चैक से विक्रेता को अदा भी कर दी और 557300/ रूपये का स्टांप की भी क्रय कर लिखा पढी कर दी।

>
किंतु बैनामा सब रजिस्ट्रार  सदर द्वारा बैनामा यह कहते हुए निष्पादित करने से मना कर दिया कि श्रीमान जिलाधिकारी महोदय ने इस क्षेत्र की भूमि पर रोक लगा रखी है। इस पर प्राथर्नी जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर कार्यालय गई तो वहां से बताया गया कि कृषि भूमि पर कोई रोक नही लगाई गई है। यमुना अथॉरिटी का उक्त गांव अधिसूचित क्षेत्र है, एनओसी यमुना अथॉरिटी ही देगी। पत्र में शिकायतकर्ता शकुंतला देवी ने यह भी अवगत कराया है कि बैनामा निष्पादित किए जाने की एनओसी के लिए प्रार्थनी जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर कार्यालय और यमुना अथॉरिटी कार्यालय के चक्कर काट कर थक चुकी है और बैनामा निष्पादित नही किया जा रहा है। यही कारण है कि प्रार्थनी की कुल  36 लाख रूपये की धनराशि डूब चुकी है। पत्र में पीडितां ने मांग की है कि इस लुका छिपी के लिए जिम्मेदार अफसरांं के खिलाफ कार्यवाही करते हुए भूमि का अविलंब बैनामा निष्पादित कराया जावे।