वर्तमान परिवेश में पत्रकारिता करना तलवार की धार पर चलने के समान हो गया है : लक्ष्मण सिंह स्वतंत्र
विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा 
 विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस 3 मई  के उपलक्ष में भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ गौतमबुद्धनगर शाखा द्वारा आयोजित पत्रकारिता की अधिकारिता संगोष्ठी में वक्ताओं ने सरकार से संसद में पारित करा कर पत्रकार सुरक्षा कानून व पत्रकारिता को  संवैधानिक अधिकारिता का दर्जा दिए जाने की मांग उठाई है। ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क स्थित जीएनआईओटी शिक्षण संस्थान के सेमिनार हॉल में भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के राष्ट्रीय सचिव सामाजिक चिंतक व पत्रकार नंद गोपाल वर्मा की अध्यक्षता व संस्थान के प्रोफेसर मनोज कुमार गुप्ता के संचालन में पत्रकारिता की अधिकारिता विषय पर आयोजित विचार गोष्ठी में मुख्य अतिथि अखिल भारतीय स्वतंत्र लेखक मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष लक्ष्मण सिंह स्वतंत्र ने कहा है कि वर्तमान परिवेश में पत्रकारिता करना तलवार की धार पर चलने के समान हो गया है । पत्रकारिता को चतुर्थ स्तंभ कहा जाता है किंतु आज पत्रकारिता अर्थात अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को दबाया और कुचला जा रहा है , जिस कारण लोकतंत्र का चतुर्थ स्तंभ लड़खड़ाने लगा है  परिणामस्वरूप विगत वर्षों में कई सौ पत्रकारों की नृशंश हत्याएं इसका प्रमाण है। लक्ष्मण सिंह स्वतंत्र ने पत्रकारों से संगठित होकर संघर्ष करने को कहा और सरकार से संसद में प्रस्ताव पारित कराकर  पत्रकार सुरक्षा अधिनियम लागू करके पत्रकार व पत्रकारिता को संवैधानिक दर्जा दिए जाने  की मांग कीl
किसान नेता अजीत सिंह  दोला ने कहा कि असली भारत गांवों में बसता है l गरीब,किसान, पीड़ित व मजदूर और मजलूमो की आवाज को शासन प्रशासन तक पहुंचाने का काम, अपनी जान जोखिम में डालकर भी पत्रकार व उनके समाचार पत्र करते हैं। इसलिए पत्रकारों को सुरक्षा व संवैधानिक अधिकार दिए जाना सरकार सुनिश्चित करें l
प्रोफेसर मनोज गुप्ता द्वारा संचालित विचार गोष्ठी की अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ पत्रकार नंद गोपाल वर्मा ने कहा कि विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस एवं अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की सार्थकता तभी है, जब भारत सरकार स्वतंत्रता की अभिव्यक्ति को जीवित रखने के लिए पत्रकार सुरक्षा अधिनियम लागू करें और समाचार पत्र में प्रकाशित खबर को ही FIR का दर्जा प्रदान करें। शिक्षण संस्थान के निदेशक डॉ धीरज गुप्ता  ने राष्ट्र,समाज शिक्षा व विज्ञान के विकास में प्रेस की भूमिका को अद्वितीय बताते हुए पत्रकारिता की अधिकारिता को वक्त की जरूरत बताया l 
गोष्ठी को प्रो.मनोज गुप्ता, समाजसेविक  ममता सिंह, ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन बुलंदशहर के अध्यक्ष विजय राघव, सुरेंद्र सिंह भाटी, उदयवीर सिंह भाटी, मनोज कटारिया, इं वाई के सिंह, कार्यक्रम के संयोजक व भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के जिला सचिव हरवीर सिंह ने भी संबोधित किया l पत्रकार महासंघ के जिलाध्यक्ष वीरेंद्र मलिक ने आशीर्वचन प्रस्तुत किए एवं सभी का आभार व्यक्त किया l इस गोष्ठी में हितेश कौशिक, अकरम चौधरी, संदीप तिवारी, सीताराम स्वर्णकार, रघुराज भाटी, राजवीर रोसा, अजय मलिक, रूपेश वर्मा, एडवोकेट गंगेश्वर दत्त शर्मा, पंकज त्यागी, विजय श्रीवास्तव, सौरभ अग्रवाल, धीर सिंह,  आश्मीन गिल, सुनील कुमार, शीशराम आदि उपस्थित रहे l