BRAKING NEWS

6/recent/ticker-posts

Header Add

कोर्ट ने लगाई पुलिस को फटकार , पुनः जांच के दिए आदेश

अभियुक्त के दवाब में आकर पुलिस ने जांच करी थी बंद, IRS है आरोपी

विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर
नोएडा पुलिस को जिला न्यायालय गौतमबुद्ध नगर ने एक मामले में कड़ी फटकार लगाई है । 10 सितंबर 2021 को पीड़िता नोएडा सैक्टर 20 पुलिस स्टेशन में रेप का मामला दर्ज कराने पहुंची थी । परन्तु पुलिस ने अभियुक्त के उच्च पद पर कार्यरत रहने के चलते मामला मामूली छेड़ खानी में एफआईआर no 1071/21 दर्ज करी । इसके बाद में केस में साक्ष्य न होने की बात बोलकर केस बंद कर दिया । पीड़िता जो की नोएडा कि निवासी है उसके द्वारा मामले को कोर्ट के समक्ष चुनौती दी । जिसमे पीड़िता के अधिवक्ता अनुराग भाटी ने बताया कि सीजेएम ने सारे मामले को देखते हुए कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि पुलिस ने अभियुक्त के उच्च पद पर होने के कारण दवाब में आकर केस में अन्तिम आख्या लगाई है । केस में पीड़िता के 164 के ब्यान भी हुए उसके बावजूद भी पुलिस ने कोई जांच नहीं की । इसके उपरांत सीजेएम ने पुलिस को पूरे केस कि पुनः जांच के आदेश दिए है । उपरोक्त मामले में अभियुक्त अभिनव यादव हरियाणा फरीदाबाद में जीएसटी विभाग में ज्वाइंट कमिश्नर के पद पर तैनात है । अभियुक्त पहले से शादी शुदा था , जिसकी जानकारी उसने छुपाई और पीड़िता के साथ शादी का वादा कर कई महीनों तक शारीरिक संबंध बनाए। बाद में जब पीड़िता गर्भवती हो गई तो जबरन उसका गर्भपात करा दिया । पीड़िता ने बताया कि अभियुक्त उससे अश्लील वीडियो बनाने की मांग कर ब्लैकमेल भी कर रहा था ।