>
>
>

विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

किसान एकता संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष सोरन सिंह प्रधान के नेतृत्व में यमुना औद्योगिक विकास प्राधिकरण में वार्ता हुई। किसान एकता संघ के जिलाध्यक्ष अरविंद सेक्रेटरी ने बताया कि किसानों के 6 बिंदुओं को लेकर यमुना प्राधिकरण के सीईओ डॉ अरुणवीर सिंह, एसीईओ रविंदर सिंह, एसीईओ‌‌‌ मोनिका, ओएसडी शैलेंद्र सिंह सहित अन्य अधिकारियों के साथ वार्ता हुई।

1. किसानों को 64.7% अतिरिक्त प्रतिकर दिए जाने के संबंध में माननीय सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिये गए निर्णय को तत्काल लागू करके संबंधित किसानों के गाँवों में कैम्प लगाकर किसानों को बिना किसी मध्यस्थता के सीधे किसानों को मुआवजे के चेक वितरित किये जायें।

2. किसानों को 7% प्रतिशत विकसित भूखण्ड बिना डवलपमेन्ट चार्ज के शीघ्र दिये जाए व 3% प्रतिशत विकसित भूखण्ड लागू किया जाए।

3. किसानों की आवादी, बैक लीज, शिफटिंग बिना विलम्ब किये जल्द से जल्द निस्तारित की जाये जगनपुर, अटटा गुजरान, औरंगपुर, गांव से आबादी निस्तारण चालू किया जाए, किसानों की बिना वजह आवादी न तोडी जाये जबतक आबादी की समस्या का निस्तारण नहीं कर दिया जाता।

4. किसानों को मूल मुआवजा जल्द से जल्द दिया जाये।

5. सभी किसानों को 33 साला का लाभ तत्काल दिया जाये।

6. किसान (मुखिया) की मृत्यु के उपरान्त 10 प्रतिशत विकसित भूखण्डों का परिवार के सदस्यों के आधार पर अलग-अलग   विभाजन कर दिया जाये और खातेदारों के नाम पर भी अलग-अलग विकिसित भूखण्ड दिये जाये व के गांवों के विकास कार्य रास्ते, श्मशान घाट, स्ट्रीट लाइट, को लेकर वार्ता कर प्राधिकरण के सीईओ डॉक्टर अरुणवीर सिंह को ज्ञापन सौंपा।

 सभी समस्याओं को जल्दी ही निस्तारण करने का आश्वासन यमुना प्राधिकरण के सीईओ डॉ अरुणवीर ने दिया।  इस मौके पर सोरन प्रधान,गीता भाटी,अखिलेश प्रधान,वनीश प्रधान,शौकत अली चेची,अजयपाल नेता ,जगदीश शर्मा,पवन पतला खेडा,मेहरवान खान,पप्पे नागर,दुर्गेश शर्मा,शहजाद चौधरी,उमर प्रधान सहित दर्जनों लोग उपस्थित रहे।