>


 

बिल्डर वर्धमान अल्फा स्क्वायर के खिलाफ कोर्ट के आदेश से कई एफआईआर दर्ज

>

 

विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

 ग्रेटर नोएडा अल्फा कमर्शियल बेल्ट स्थित वर्धमान अल्फा स्क्वायर के डाइरेक्टर्स हरिंदर बसिस्टा निवासी सराय काले खां, राजू वर्मा निवासी कोटला दिल्ली व अन्य कर्मचारियों के विरुद्ध कोर्ट के आदेश से धोखाधड़ी, फर्जीवाड़े व अन्य संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है। एडवोकेट मिंटू भाटी मकौड़ा ने बताया कि 2011 में  उनके परिवारजनों ने  2 करोड़ रुपए की दुकानें अल्फा स्क्वायर में बुक की थी। जिसमे फर्जी प्रपत्र दिखाकर विश्वास में लिया गया कि 2014 तक मॉल का निर्माण पूरा कर लिया जाएगा परंतु निर्माण कार्य 12 साल बीतने पर भी पूरा नही हो सका है। इसलिए सबको कोर्ट की शरण लेनी पड़ी और कोर्ट के आदेश के बाद इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। इन लोगो ने प्रोजेक्ट के लिए हज़ारों खरीदारों से आये करोड़ो रुपयों से इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के बजाय अन्य जगह अपनी निजी सम्पत्तियां खरीद ली हैं व रुपयों को अपने परिवारजनों के एकाउंट तक में ट्रांसफर कर दिया है। लीज़ की शर्तों के अनुसार इस प्रोजेक्ट को 5 साल में पूरा करना था, परंतु समय पर पूरा न करने के बाद भी आज तक ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने इनके खिलाफ कोई कार्यवाही नही की है, उल्टा इस बिल्डर को अन्य जगह भी कमर्शियल प्लाट तक अलॉट कर दिए हैं।