>



एडीजे एससी/एसटी द्वारा प्रेमिका को दोषी मानते हुए 10 वर्ष की सजा और 5 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया

 




विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा

गौतमबुद्धनगर में एक प्रेमी को मौत के घाट उतारने के मामले में कसूरवार ठहराई प्रेमिका को 10 साल की सजा हुई है। दनकौर कोतवाली क्षेत्र के झालड़ा गांव के पास एक बाग में 23 जून 2018 को एक लाश मिली। पुलिस की जांच इस हत्याकांड में जैसे ही आगे बढी प्रेमी पर जान छिडकने की कसमें खानी वाली प्रेमिका को पुलिस ने दबोच लिया। पुलिस ने उस समय खुलासा किया था कि शराब के नशे आपसी विवाद के चलते प्रेमिका द्वारा सिर में डंडा मारकर प्रेमी की हत्या कर दी गई थी। पुलिस की जांच में वारदात से पहले एक माह में अभियुक्ता ने अपने प्रेमी को करीब 126 बार कॉल की थी। इस मामले में गौतमबुद्धनगर की कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए प्रेमिका सोनम को 10 वर्ष की सजा और 5 हजार रुपये तक का जुर्माना लगाया है। गौरतलब है कि ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के लड़पुरा गांव निवासी जितेंद्र की लाश गत 23 जून 2018 को झालड़ा गांव के पास स्थित एक आम के बाग में मिली थी। घटना में मृतक के छोटे भाई



 हातम ने हत्या की आशंका जताते हुए गांव की ही युवती सोनम व अन्य कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। घटना के कुछ समय बाद ही पुलिस ने सोनम उर्फ सोनू निवासी लड़पुरा को खेरली नहर के पास से गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस की पूंछताछ में आरोपित ने बताया कि वे दोनों काफी दिन से बाग में आकर शराब पीते थे। दनकौर पुलिस की मानें तो वारदात वाले दिन भी मृतक व आरोपित सोनम बाग में पहुंचे और जमकर शराब पी थी । इसी बीच किसी बात को लेकर दोनों में झगड़ा हो गया और शराब के नशे में प्रेमी जितेंद्र के सिर में डंडा मार दिया। आरोपित का कहना था कि उसने जान से मारने की नीयत से डंडा नही मारा था। मगर लहूलुहान अवस्था मे जितेंद्र को बाग में छोड़कर अपने घर चली गई थी। वहीं बाग के माली का कहना था कि दोनों अक्सर बाग में आकर शराब पीते थे। घटना के समय आरोपित ने पानी की बोतल लाने के लिए बिलासपुर भेज दिया था। उसने बताया कि जब वापस आकर देखा तो जितेंद्र मृत अवस्था मे पानी की हौज में पड़ा था, तत्पश्चात पुलिस को सूचना दी गई। जबकि मृतक के भाई हातम का आरोप था कि आरोपित सोनम उर्फ सोनू पिछले काफी समय से जितेंद्र को ब्लैकमेल कर रही थी और जिससे मृतक कुछ दिन से तनाव में था। वहीं पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त डंडा बरामद कर लिया था। मामले में गहनता से जांच करने के बाद पुलिस ने चार्ज शीट दाखिल कर दी थी और जिसमें आरोपित सोनम को दोषी बनाया गया था। मामले की सुनवाई कर रहे एडीजे एससी/एसटी द्वारा सोनम को दोषी मानते हुए 10 वर्ष की सजा और 5 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है।