>

 

विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा

गौतमबुद्धनगर जेवर विधानसभा सीट से पहला चुनावी परिणाम घोषित कर दिया गया है। जेवर विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी  के उम्मीदवार ठाकुर धीरेंद्र सिंह को विजयी घोषित किया गया है। पिछले चुनाव के मुकाबले इस बार धीरेंद्र सिंह ने दोगुने से भी ज्यादा मतों के अंतर से कामयाबी हासिल की है। दूसरे नंबर पर समाजवादी पार्टी-राष्ट्रीय लोकदल गठबंधन के उम्मीदवार अवतार सिंह भड़ाना रहे हैं। मिली जानकारी के मुताबिक धीरेंद्र सिंह ने करीब 57,000 वोटों से जीत हासिल की है। जीत हासिल करने के बाद ठाकुर धीरेंद्र सिंह ने खास बातचीत में कहा, "यह कामयाबी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सुशासन की बदौलत मिली है। गौतमबुद्ध नगर की तीनों विधानसभा सीटों पर भारतीय जनता पार्टी ने अच्छे खासे मार्जिन से जीत हासिल की है। मोदी-योगी ने मेरे विधानसभा क्षेत्र की किस्मत को बदल दिया है। पिछले 5 वर्षों के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार ने सबसे ज्यादा विकास कार्य जेवर विधानसभा क्षेत्र में किए हैं। जेवर की जनता ने इन विकास योजनाओं को स्वीकार किया है। जिसकी बदौलत पिछली बार के मुकाबले बड़े अंतर से भाजपा ने जीत हासिल की है। यह जीत भारतीय जनता पार्टी के प्रत्येक कार्यकर्ता की जीत है। मैं जेवर के लोगों से वादा करता हूं कि और मनोयोग से सेवा करूंगा। दिन-रात इलाके का विकास और आम आदमी के जीवन को सरल बनाने की कोशिश करूंगा।" जब सबने छोड़ा साथ, तब योगी ने थामा हाथ धीरेंद्र सिंह के लिए यह चुनाव कम चुनौतियों से भरा नहीं रहा है। नामांकन करने के बाद भारतीय जनता पार्टी के कई बड़े नेताओं और गौतमबुद्ध नगर जिला संगठन के पदाधिकारियों ने जेवर सीट से किनारा कर लिया था। जब यह जानकारी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा को मिली तो दोनों नेता धीरेंद्र सिंह के पक्ष में प्रचार करने जेवर पहुंच गए। दिनेश शर्मा ने ब्राह्मण समाज को साधने के लिए जेवर में बड़ा सम्मेलन किया। जिसमें इलाके के प्रत्येक गांव से ब्राह्मण समाज के बड़े चेहरे शामिल हुए। इसके बाद चुनाव प्रचार के अंतिम दिन खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ धीरेंद्र सिंह के पक्ष में मतदाताओं से अपील करने जेवर आए। योगी आदित्यनाथ धीरेंद्र सिंह के घर पहुंचे और करीब एक घंटा बंद कमरे में बिताया था। कुल मिलाकर जब धीरेंद्र सिंह का साथ पार्टी नेताओं ने छोड़ दिया था तो सीएम और डिप्टी सीएम ने उनका हाथ थाम लिया था। जिसका इस चुनाव में धीरेंद्र सिंह को बड़ा फायदा मिला है।

 

जेवर में सबसे कम वोटर फिर भी बड़ा अंतर हासिल किया गौतमबुद्ध नगर की तीनों विधानसभा सीटों में जेवर सबसे छोटी है। मतदाताओं की संख्या केवल 3,50,465 है। इनमें से 2,31,267 ने मतदान किया। धीरेंद्र सिंह के सामने अवतार सिंह भड़ाना और बहुजन समाज पार्टी के नरेंद्र भाटी चुनाव लड़ रहे थे। चुनावी विश्लेषकों का मानना था कि अवतार सिंह भड़ाना इस चुनाव में धीरेंद्र सिंह को कड़ी टक्कर दे रहे हैं। कई लोगों ने तो यहां तक कह दिया कि धीरेंद्र सिंह चुनाव हार गए हैं। दूसरी तरफ धीरेंद्र सिंह अपनी जीत को लेकर पूरी तरह आश्वस्त थे। वे लगातार कह रहे थे कि 5 वर्षों में आम आदमी के बीच रहकर जो काम किया है, उसका पारिश्रमिक जनता जरूर देगी। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री ने इस इलाके की कायापलट करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। जेवर क्षेत्र का आम आदमी भाजपा का साथ नहीं छोड़ेगा। उनका भरोसा शत-प्रतिशत खरा उतरा है। पिछली बार के मुकाबले धीरेंद्र सिंह ने कहीं बड़े अंतर से कामयाबी हासिल की है। आपको बता दें कि 2017 के विधानसभा चुनाव में धीरेंद्र सिंह ने केवल 22,173 वोटों से चुनाव जीता था