>

इंडिया एक्सपो मॉर्ट एंड सेंटर ग्रेटर नोएडा में आईएचजीएफ.दिल्ली मेला-202230 मार्च-2022 से 3 अप्रैल-2022 तक चलेगा

 




2500 से ज्यादा हस्तशिल्प निर्यातकों द्वारा घरेलू उपयोग, लाइफस्टाइल, फैशन, वस्त्र और फर्नीचर उत्पादो ंको प्रदर्शित किया जाएगाः मल्होत्रा

 

मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/ग्रेटर नोएडा

वैश्विक महामारी के कारण ढाई साल के अंतराल के बाद दुनिया के सबसे बड़े हस्तशिल्प मेलों में से एक यानी आईएचजीएफ.दिल्ली मेले का बहुप्रतीक्षित 53 वां संस्करण पूरे जोर शोर से के साथ आयोजित किया जा रहा है। इंडिया एक्सपो मॉर्ट एंड सेंटर ग्रेटर नोएडा में यह आईएचजीएफ.दिल्ली मेला-2022 इस बार 30 मार्च-2022 से लेकर 3 अप्रैल-2022 तक आयोजित किया जा रहा है। मंगलवार को आईएचजीएफ.दिल्ली मेला-2022 की तैयारियों को लेकर इंडिया एक्सपो मॉर्ट एंड सेंटर के सभागार में एक पत्रकार वार्ता का आयोजन किया गया। पत्रकार को संबोधित करते हुए कहा गया कि सभी हितधारक.प्रतिभागी और आगंतुक इस मेगा सोर्सिंग प्लेटफॉर्म के माध्यम से व्यवसाय को फिर से शुरू करने और उसे विस्तार देने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। इस बार 30 मार्च से 3 अप्रैल, 2022 तक इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट, ग्रेटर नोएडा में चलने वाला यह आयोजन विदेशी खरीदारों, खरीद और सोर्सिंग पेशेवरों के साथ.साथ बड़े घरेलू खुदरा खरीदारों के लिए खुला है। हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद यानी ईपीसीएच के चेयरमैन राजकुमार मल्होत्रा ने बताया कि पांच दिवसीय मेले में देश भर से 2500 से ज्यादा हस्तशिल्प निर्यातकों द्वारा घरेलू उपयोग, लाइफस्टाइल, फैशन, वस्त्र और फर्नीचर उत्पादो ंको प्रदर्शित किया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि यह मेला बहुत विशिष्ट है और इस संस्करण में 2000 से अधिक नए उत्पादों और 300 से अधिक डिज़ाइन एक्सप्रेशन्स का संकलन होगा जिनमें 14 उत्पाद श्रेणियां शामिल हैं, जैसे हाउसवेयर, होमफर्निशिंग, फर्नीचर, उपहार और सजावटी, लैंप और लाइटिंग, क्रिसमस और फेस्टिवडेकोर, फैशन ज्वैलरी और एक्सेसरीज, स्पा और वेलनेस, कार्पेट और रग्स, बाथरूम,एक्सेसरीज, गार्डन,एक्सेसरीज, एजुकेशनलटॉयज,वंगेम्स, हैंडमेड पेपर प्रोडक्ट्स और स्टेशनरी,वंलेदर बैग्स इत्यादि। इंडिया एक्सपो सेंटर हॉल और मार्ट क्षेत्र में 900 स्थायी शो.रूम्स में आयोजित इस प्रदर्शनी में शिल्प निर्माण केंद्रों और क्लस्टरों का जोरदार प्रतिनिधित्व देखने को मिलेगा, जिससे यह एक व्यापक सोर्सिंग गंतव्य साबित होगा। हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद यानी ईपीसीएच के महानिदेशक डा0 राकेश कुमार ने कहा कि आईएचजीएफ दिल्ली मेले के 52वें संस्करण की सफलता के बाद, जो लगातार तीन वर्चुअल शो के बाद फिजिकल मोड में आयोजित किया गया था, 53वां संस्करण पूरे देश में 2500 से अधिक प्रदर्शकों के साथ 30 मार्च, 2022 से इंडिया एक्सपो सेंटर एंड मार्ट, ग्रेटर नोएडा, दिल्ली एनसीआर में शुरू होगा। भारत को यात्रा करने के लिए बहुत सुरक्षित बताते हुए  उन्होंने भारत सरकार द्वारा अंतर्राष्ट्रीय यात्रा प्रतिबंध हटाने और 27 मार्च 2022 से नियमित अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को फिर से शुरू करने का स्वागत किया, जिससे,खरीदारों का आवागमन आसान हो गया है। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर क्षेत्र, लद्दाख, जम्मू.कश्मीर और राजस्थान के शिल्प को दर्शाने वाले थीम मंडप विदेशी खरीददार समुदाय के लिए आकर्षण के बीच होंगे। डा0 कुमार ने आगे बताया कि ईपीसीएच भारत सरकार द्वारा जारी बी-2बी व्यापार प्रदर्शनी के आयोजन के लिए सभी आवश्यक सुरक्षा प्रोटोकॉल और एसओपी के साथ इस मेले का आयोजन कर रहा है। ईपीसीएच ने मेला स्थल पर प्रदर्शकों, खरीदारों और आगंतुकों द्वारा पालन किए जाने वाले दिशा.निर्देशों को निर्धारित किया है जिसमें प्रवेश पर थर्मल स्कैनिंग, रंग बैजवार प्रवेश, अनिवार्य फेसमास्क, हाथ सेनिटाइजेशन मशीन, शारीरिक दूरी बनाए रखना,  चिकित्सा सुविधाए अलगाव केंद्र शामिल हैं। आयोजन स्थल पर, कोविड प्रवर्तन अधिकारी, आरोग्यसेतु ऐप ;घरेलू आगंतुकों के लिए,आरटीपीसीआर, सीसीटीवी, आवश्यक स्वच्छता मानकों के साथ एफ एंड बी सेवाएं, आदि शामिल हैं। पत्रकार वार्ता में रवि के पासी, ओपी प्रहलदका, आरके वर्मा, लेखराज माहेश्वरी,दिलीप वैद्य आदि दिल्ली फेयर-2022 से जुडे पदाधिकारीगण उपस्थित रहे।