>

01 अवैध तमंचा मय 03 खोखा व 02 जिन्दा कारतूस, 01 चोरी की मोटरसाइकिल, लूटी गयी चेनों को बेचने से प्राप्त 20,000 रूपये नगद व 01 मोबाइल फोन बरामद  

 



विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

थाना बीटा-2 पुलिस द्वारा पुलिस मुठभेड़ के दौरान अंतर्राज्यीय चेन स्नैचर गिरोह का सरगना 45,000 रूपये का इनामी बदमाश गिरफ्तार, कब्जे से 01 अवैध तमंचा मय 03 खोखा व 02 जिन्दा कारतूस, 01 चोरी की मोटरसाइकिल, लूटी गयी चेनों को बेचने से प्राप्त 20,000 रूपये नगद व 01 मोबाइल फोन बरामद किया गया है। डीसीपी अमित कुमार सिंह ने बताया कि थाना बीटा-2 पुलिस द्वारा चेकिंग के दौरान एक काले रंग की पल्सर पर दो व्यक्ति आते दिखायी दिये जिन्हें रोकने का प्रयास किया गया तो मोटरसाइकिल सवार बदमाशों ने मोटरसाइकिल नहीं रोकी और पुलिस पार्टी पर फायर करते हुए 130 मीटर से सुपरटेक गोल चक्कर की तरफ भागने लगे, करीब 500 मीटर जाने पर पुलिस द्वारा आत्मरक्षार्थ हेतु चलाई गयी गोली पैर में लगने के कारण 01 अभियुक्त तुलसी पुत्र धनसिंह(बावरिया) निवासी ग्राम खोकसा, थाना झिंझाना, जनपद शामली, उत्तर प्रदेश को घायल अवस्था में गिरफ्तार किया गया है। घायल बदमाश के कब्जे से 01 अवैध तमंचा मय 03 खोखा व 02 जिन्दा कारतूस, 01 चोरी की मोटरसाइकिल, लूटी गयी चेनों को बेचने से प्राप्त 20,000 रूपये नगद व 01 मोबाइल फोन बरामद हुए है। बदमाश का 01 साथी मौके से भागने में सफल हो गया जिसकी तलाश की जा रही है। घायल बदमाश को इलाज हेतु अस्पताल भिजवाया गया है। अभियुक्त एक शातिर किस्म का कुख्यात चेन स्नैचर है जिस पर राजस्थान, उत्तराखण्ड , हरियाणा, दिल्ली एनसीआर व उत्तर प्रदेश के करीब तीन दर्जन से अधिक अभियोग पंजीकृत है। जिनमें अभियुक्त इनामियां वाछित अपराधी है। अभियुक्त राजस्थान राज्य के जनपद जयपुर से वांछित है जिसकी गिरफ्तारी के लिए 5000/- रूपये का इनाम घोषित है व उत्तराखण्ड राज्य के जनपद हरिद्वार से 15000/- रूपये का वांछित इनामी अपराधी व कमिश्नरेट गौतमबुद्धनगर से 25000/- रूपये का वांछित इनामी अपराधी है। अभियुक्त द्वारा अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर राजस्थान , उत्तराखण्ड , हरियाणा , दिल्ली एनसीआर व उत्तर प्रदेश में तीन दर्जन से अधिक चेन स्नैचिंग की घटनाओं का इकबाल किया गया है। डीसीपी ने बताया कि अभियुक्त हाई स्पीड बाइक रेसर है जो हाई स्पीड बाइक पर सवार होकर अलग-अलग जगहों को चिन्हिंत कर घूम फिरकर रेकी कर सुनसान गलियों में, घरों के सामने, मोर्निंग वाक पर निकले, स्कूल से बच्चे लेकर आने वाली महिलाओं से चेन छीनकर अपनी हाई स्पीड बाइक पर फरार हो जाते थे।