विजन लाइव/ झज्जर (हरियाणा)
झज्जर जिलामुख्यालय के अंतिम छौर पर बसे वीरों की देवभूमि कहे जाने वाले गांव धारौली की सामाजिक संस्था मां-मातृभूमि सेवा समिति द्वारा  बाबा मुक्तेश्वरपुरी गौशाला, कोसली की गायों को 9 क्विंटल गेहूँ का मीठा दलिया और 42 दर्ज़न केले खिलाकर आर्य समाज के संस्थापक और महान समाज सुधारक स्वामी दयानंद सरस्वती की जयंती और देश की आजादी के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद का बलिदान दिवस धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रक्तदानी सुखबीर जाखड़, चेयरमैन, रिलायंस डेवलपमेंट पब्लिक स्कूल, गिरधरपुर ने अपने हाथों से बाबा मुक्तेश्वरपुरी गौशाला, कोसली की गायों को गेहूँ का मीठा दलिया और केले खिलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ने बताया कि स्वामी दयानंद आर्य समाज के संस्थापक, महान चिंतक, समाज-सुधारक और देशभक्त थे, हमें उनके द्वारा दिखाए गए रास्ते पर चलने का आह्वान किया। एडवोकेट राकेश लांबा धारौली, सिविल कोर्ट, कोसली और रक्तदानी मास्टर रोहित यादव कोसली आदि  विशिष्ट अतिथि के रूप में पहुंचे । रक्तदानी एडवोकेट रिंकू कोसलिया, प्रधान, बाबा मुक्तेश्वरपुरी गौशाला ने कार्यक्रम अध्यक्षता की । एडवोकेट रिंकू कोसलिया ने मां-मातृभूमि सेवा समिति, वीरों की देवभूमि धारौली का आभार जताया तथा इस कार्य को सराहनीय पहल बताया। हरियाणा राज्य परिवहन में कार्यरत राकेश कुमार कोसली, रक्तदानी सुखबीर जाखड़, चेयरमैन, रिलायस डेवलपमेंट पब्लिक स्कूल, गिरधरपुर, एडवोकेट राकेश लांबा धारौली, सिविल कोर्ट, कोसली, रक्तदानी एडवोकेट रिंकू कोसलिया,  रक्तदानी दीपक सोलंकी झाडोदा, झज्जर निवासी,  रक्तदानी मास्टर रोहित यादव कोसली, रक्तदानी धर्मपाल बेरीवाल तुम्बाहेडी निवासी, पंजाब नेशनल बैंक में प्रोबेशनरी अफसर पद पर कार्यरत, रक्तदानी मास्टर हरबीर मल्हान गिरधरपुर निवासी, 7 बार रक्तदान कर चुके रक्तदानी पुरुषोत्तम पाराशर, दुल्हेड़ा निवासी, 18 बार रक्तदान कर चुके रक्तदानी परवीन कौशिक (गुड़गांव निवासी), शिवधन ग्लोबल ब्लड सेंटर, झज्जर, दिव्यांग होते हुए भी गांवों में शिक्षा की अलख जगाने वाले राज्य शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित भाकली प्राइमरी स्कूल में शिक्षक भूदत्त शर्मा कोसली निवासी, रक्तदानी भाई साहब मंजीत अम्बोली, हँस बैग्स हाउस, कोसली, इंजीनियर यशपाल चोपड़ा बहादुरगढ़,इंजीनियर अजय मलिक (जेई)खानपुर कलां, सोनीपत, युद्धवीर सिंह लांबा, वीरों की देवभूमि धारौली, कोसली गांव के कमला मेडिकल स्टोर के प्रो. विक्रम यादव आदि ने अपनी ईमानदारी व कड़ी मेहनत से कमाया नेक धन से बाबा मुक्तेश्वरपुरी गौशाला, कोसली की गायों के लिए 9 क्विंटल गेहूँ का मीठा दलिया और 42 दर्ज़न केले खिलाने के एक भोज कार्यक्रम के आयोजन मे सहयोग दे कर  पुण्य कमाया । 17 बार रक्तदान कर चुके रक्तदानी युद्धवीर सिंह लांबा, अध्यक्ष, मां-मातृभूमि सेवा समिति, वीरों की देवभूमि धारौली ने जानकारी देते हुए बताया कि समाज के प्रत्येक व्यक्ति को अपने समय एवं सामर्थ्य के अनुसार गाय की सेवा करनी चाहिए। गाय, गोपाल, गीता, गायत्री तथा गंगा भारत की सभ्यता और संस्कृति का आधार हैं।
विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारे एडवोकेट राकेश लांबा धारौली, सिविल कोर्ट, कोसली और रक्तदानी मास्टर माननीय रोहित यादव कोसली ने बताया कि भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक एवं लोकप्रिय स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद आज ही के दिन यानी 27 फरवरी, 1931 को इलाहबाद में शहीद हुए थे।  
इस अवसर पर सुबेदार महेन्दर, डॉक्टर सतबीर, यशपाल सरपंच जखाला कमल भगत आदि  मौजूद थे।