विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा 
किसान एकता संघ के कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय अध्यक्ष महिला मोर्चा गीता भाटी के नेतृत्व में सदर तहसील पर तालाबंदी कर धरने पर बैठ गए। संगठन के राष्ट्रीय मीडिया रमेश कसाना ने बताया की ग्रेटर नोएडा एनपीसीएल पर बिजली की समस्याओं को लेकर किसान एकता संघ के कार्यकर्ता अनिश्चित कालीन धरने पर बैठे हुए थे इसी बीच धरने पर आये क्षेत्रीय किसानों ने तहसील से संबंधित समस्याओं से संगठन के पदाधिकारीओ को अवगत कराया किसानों का आरोप है। सदर तहसील में किसानों से खतौनी के देने की एवज में 50 से 100 रूपये लिऐ जा रहे हैं। जब कि खतौनी की सरकारी फीस 15 रूपये है क्षेत्रीय किसानों को लूटा जा रहा है। जो सरासर गलत है और अगर किसी व्यक्ति की मौत हो जाए उसका परिवार वारिसान बनवाने के नाम पर तहसील में 8 से 10000 रूपये तक वसूले जाते हैं,वृद्धा एवं विधवा पेंशन आदि अनेकों समस्याएं लोगों ने बताई जिनके संम्बध में सदर के तहसीलदार को एलआई यू को सूचित कर पंचायत में बुलाना चाहा तो तहसीलदार महोदय बहाने बनाने लगे इसके बाद गुस्साऐ किसान एनपीसीएल से धरना समाप्त कर अपने टैक्टरो और गाडीयो में सवार होकर तहसील कार्यालय पहुंच गए और सदर तहसील के दोनों गेट बंद कर  धरने पर बैठ गए सूचना मिलने पर एसडीएम सदर एसीपी बृजनंदन राय किसानों के बीच पहुंचे और किसानों की समस्याओं को गंभीरता से किसानों के बीच जमीन पर बैठकर सुना एसडीएम सदर ने यह आश्वासन दिया कि आज के बाद सदर तहसील का कोई भी कर्मचारी किसी भी तरह के भ्रष्टाचार में लिप्त पाया जाता है तो उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी और किसी से कोई पैसा नहीं लिया जाएगा और जो काम सही है वह तुरंत प्रभाव से किया जाएगा आगे से ऐसा शिकायत का मौका नहीं देंगे एसडीएम सदर ने पूर्ण आश्वासन क्षेत्रीय किसानों को दिया तब जाकर एसडीएम सदर व एसीपी ब्रजनंदन राय  के अनुरोध पर किसानो ने अपना धरना समाप्त किया इस मौके गीता भाटी,रमेश कसाना,सतीश कनारसी,अरबिद सैकेटरी,मनीष नागर,अजयपाल समसपुर,दुर्गेश शर्मा,अरूण खटाना,हिमाचल कसाना,उमर प्रधान,मनीष भाटी,मनवीर नागर,रवि नागर,महरवान खान सहित आदि  सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।