विजन लाइव /मेरठ
 कुलपति  प्रोफेसर संगीता शुक्ला के  संरक्षण में सूक्ष्म जीव विज्ञान विभाग द्वारा विश्व कुष्ठ उन्मूलन दिवस पर औरंग शाहपुर डिग्गी मेरठ में कुष्ठ रोग जागरूकता अभियान चलाया गया। जिसका शुभारंभ प्रति कुलपति एवं विभागाध्यक्ष प्रो. वाई विमला मैडम ने किया। प्रोफेसर वाई विमला ने कहा कि  कोरोनाकाल में भी विश्वविद्यालय का यह प्रयास है कि हम लोग कुष्ठ रोग के प्रति लोगों को जागरूक करें क्योंकि कुष्ठ रोग पिछले जन्मों का कर्म नहीं है, समय रहते हुए इसकी पहचान कर धारणाओं से परे रहकर नियमित रूप से दवा लेने से इसका उपचार किया जा सकता है। कार्यक्रम संयोजक डॉ लक्ष्मण नागर ने बताया कि यह बीमारी कोई कलंक नहीं है बल्कि दीर्घकालीन संक्रामक रोग है जो माइक्रोबैक्टेरियम लप्रे नामक जीवाणु से फैलता है जो मुख्य रूप से त्वचा और नसों को प्रभावित करता है, जिसकी समय से पहचान कर इलाज संभव है। अभियान के तहत औरंग शाहपुर डिग्गी ग्राम के लोगों को रोग से संबंधित जानकारी दी तथा उन्हें इस बीमारी के प्रति जागरूक भी किया गया ताकि लोग इस बीमारी से अपना बचाव कर सकें। विभाग द्वारा लोगों को बीमारी से बचाव में जानकारी के पंपलेट भी दिए गए। अभियान में डॉ प्रीति, डॉ पायल ,डॉक्टर शुक्ला, राकेश, मान्या, टीना ,शगुन ,अमन , राजेश, जमील, शीला ,बाला आदि मौजूद रहे।