डीएमआईसी एवं डीएफसीसी से प्रभावित किसान 2013 के नए कानून के तहत मुआवजा और रोजगार आदि की मांग कर रहे हैं।  किसान 176 दिन से बोड़ाकी गांव में और 16 दिन से पल्ला गांव में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं, लेकिन सरकार और प्राधिकरण के अधिकारियों पर कोई असर नहीं पड़ रहा है

विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

डीएमआईसी एवं डीएफसीसी से प्रभावित किसानों का प्रतिनिधिमंडल तेज़ सिंह भाटी पूर्व मंत्री (उत्तर प्रदेश) के बेटे एडवोकेट इंद्रवीर भाटी (देवटा)के आह्वान पर किसान एकता संघ के राष्ट्रीय (कोषाध्यक्ष) मनीष भाटी बी.डी.सी के नेतृत्व में राष्ट्रीय लोक दल के अध्यक्ष जयंत चौधरी से दिल्ली उनके आवास पर मिलकर क्षेत्र के किसानों के साथ हो रहे अत्याचार से ज्ञापन के माध्यम से उनको अवगत कराया।  डीएमआईसी एवं डीएफसीसी से प्रभावित किसान 2013 के नए कानून के तहत मुआवजा और रोजगार आदि की मांग कर रहे हैं।  किसान 176 दिन से बोड़ाकी गांव में और 16 दिन से पल्ला गांव में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं, लेकिन सरकार और प्राधिकरण के अधिकारियों पर कोई असर नहीं पड़ रहा है।  राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी ने किसानों को पूरा आश्वासन दिया कि मैं आपके साथ सदैव खड़ा रहूंगा और कहा कि किसानों के साथ हो रहे अत्याचार को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।  इस मौके पर किसान नेता मनीष भाटी बीडीसी,अजब सिंह प्रधान नेता  किसान संघर्ष समिति ग्रेटर नोएडा रविंद्र भाटी बोडाकी, सुधीर कसाना जी ,उमेश भाटी एडवोकेट देवटा,राजपाल चौधरी, रामपाल नागर, उमर ख़ान,आदि सैकड़ों की संख्या में किसान मौजूद रहे।