विजन लाइव / ग्रेटर नोएडा 
जिलाधिकारी कार्यालय सूरजपुर पर अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ के आवाहन पर उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के नेतृत्व में विभिन्न समस्याओं के निराकरण हेतु विनोद नागर जिलाध्यक्ष की अध्यक्षता में प्राथमिक शिक्षक संघ द्वारा 17 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन अंकित वर्मा एस. डी. एम. महोदय को दिया गया। नरेश कौशिक प्रांतीय ऑडिटर व जिला मंत्री ने कहा कि सरकार शिक्षकों की मांगों को दवा रही है कि कथनी करनी में अंतर है।जिसमें ज्वलंत मुद्दा शिक्षक कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाली को लेकर सरकार द्वारा पिछले कई वर्षों से संगठन अपना विरोध प्रदर्शन करता आ रहा है। लेकिन सरकार इस ज्वलंत मुद्दे को न जाने क्यों इसका समाधान नहीं कर पा रही है। पेंशन शिक्षक कर्मचारी का अधिकार है। कोई भीख नहीं अगर सरकार इस महत्वपूर्ण मांग को जल्द से जल्द पूरा नहीं करेगी तो एक बड़ा आंदोलन दिल्ली की सड़कों पर अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ के नेतृत्व में देश के लाखों शिक्षक आंदोलन करने को मजबूर होंगे। सरकार को प्रमुख मांगों में  शिक्षामित्रों /नियोजित शिक्षकों/अनुदेशकों को समायोजित कर समान कार्य के आधार पर स्थायीकरण कर समान वेतन सुनिश्चित किया जाए, तथा नई शिक्षा नीति 2020 मे शिक्षक विरोधी प्रावधानों को हटाते हुए प्रारंभिक शिक्षा के सुदृढ़ीकरण को सुनिश्चित किया जाए। प्रधानाध्यापक प्राथमिक सहायक अध्यापक पूर्व माध्यमिक को न्यूनतम वेतनमान 17140/18150  का शासनादेश जारी किया जाए।
घनानंद शर्मा, पुरुषोत्तम शर्मा,परवेज आलम, रतिराम शर्मा, गंगा राम शर्मा, संजीव शर्मा, नीरज चौबे ,रेनू रानी ,सुनेश देवी, प्रीति राय, नीतू, दीपाली बंसल ,निशा शर्मा, सुनील भाटी, सतपाल भाटी, बृजेश कुमार, उपासना वर्मा, सतेंद्र भाटी, संजीव शर्मा ,राजीव कुमार, नवीन शर्मा, दोरेंद्र राणा, महेश वशिष्ठ, महेश चंद, मुकेश वत्स, राजेंद्र प्रसाद, मुकेश शर्मा ,संजीव कुमार, आदि मौजूद रहे।