>


 

गौतमबुद्धनगर जनपद दीवानी एंव फौजदारी बार एसोसिएशन चुनाव वार्षिकी-2021-2022 चुनावों को लेकर नामांकन प्रक्रिया शुरू

 





इस बार जीत का सेहरा किसके सिर बंधेगा यह तो भविष्य के गर्भ में छिपा है मगर सुशील भाटी और रेशराम चौधरी के बीच मुख्य मुकाबला कांटे का होने जा रहा है


 


मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/गौतमबुद्धनगर

गौतमबुद्धनगर जनपद दीवानी एंव फौजदारी बार एसोसिएशन चुनाव वार्षिकी-2021-2022 चुनावों को लेकर नामांकन प्रक्रिया शुरू हो गई है। नामांकन प्रक्रिया के पहले ही दिन बृहस्पतिवार को बार अध्यक्ष, सचिव और कोषाध्यक्ष समेत विभिन्न पदो ंके प्रत्याशियों ने अपने नामांकन पत्र दाखिल किए। एल्डर्स कमेटी जनपद दीवानी एवं फौजदारी बार एसोसिएशन, गौतमबुद्धनगर वार्षिक चुनाव 2021.2022 के चेयरमैन संतराम भाटी एडवोकेट ने बताया कि आज दिनांक 16-12-2021 को बार एसोसिएशन गौतमबुद्धनगर के वार्षिक चुनाव वर्ष 2021.22 के लिए नामांकन प्रक्रिया शुरू हुई। जिसमें आज विभिन्न पदो के निर्वाचन हेतु उम्मीदवारों ने अपने आवेदन एल्डर्स कमेटी के समक्ष दाखिल किए। इस मौके पर बार एसोसिएशन, गौतमबुद्धनगर के अध्यक्ष मनोज भाटी एडवोकेट, सचिव  ऋषि टाईगर एडवोकेट,वरिष्ठ उपाध्यक्ष एस०पी० सिह एडवोकेट उपस्थित रहे। आज सुबह चुनाव आवेदन जमा करने की प्रक्रिया सुबह 10.30 बजे प्रारम्भ कर दोपहर 02.30 बजे तक पूरी की गई। उन्होंने बताया कि आज निम्न पदो के लिये निम्नलिखित आवेदन प्राप्त हुए जिनमें अध्यक्ष पद हेतु चन्द्र प्रकाश एडवोकेट,सुशील भाटी एडवोकेट और  रेशराम चौधरी एडवोकेट नामांकन पत्र दाखिल किए। जब कि वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद हेतु डा० राकेश सिंह एडवोकेट, श्रीमती मोनिका कश्यप एडवोकेट, मनोज तेवतिया एडवोकेट,अशोक कुमार एडवोकेट ने अपने परचे जमा किए। इसी प्रकार कनिष्ठ उपाध्यक्ष पद हेतु श्रीमती शुभ्रा श्रीवास्तव एडवोकेट और सचिव पद हेतु आवेदन नीरज सिंह तंवर एडवोकेट और पंडित राकेश शर्मा एडवोकेट ने दाखिल किए। जब कि सहासचिव पद हेतु आवेदन कु कुन्ती वर्मा एडवोकेट और कु० रिंकी गौतम एडवोकेट तथा कोषाध्यक्ष पद हेतु आवेदन विपिन कुमार भाटी एडवोकेट और सांस्कृतिक सचिव पद हेतु आवेदन श्रीमती गारिमा शाक्य एडवोकेट, श्रीमती संगीता सिंह एडवोकेट एवं सहसचिव पुस्तकालय पद हेतु आवेदन दीपक त्यागी एडवोकेट ने दाखिल किए।

 


सुशील भाटी एडवोकेट और रेशराम चौधरी एक बार फिर चुनाव मैदान में कूदे

 



सचिव पद समेत विभिन्न पदो ंके प्रत्याशियों ने भी जीत के लिए गुणा भाग तेज किए

 


बार सचिव पद के प्रत्याशी पंडित राकेश शर्मा एडवोकेट ने भी दावा किया है कि चैंबर विहीन अधिवक्ता साथियों को चैंबर दिलाना पहली प्राथमिकता होगी। साथ ही सभी सम्मानित अधिवक्ताओं के लिए अपनी बार की निजी कैंटीन का निमार्ण कराया जाएगा। सभी सम्मानित अधिवक्ताओं के चैंबरर्स के बिजली बिल एनपीसीएल के द्वारा एक निर्धारित दर पर करावाए जाएंगे




गौतमबुद्धनगर जनपद दीवानी एवं फौजदारी बार एसोसिएशन चुनाव-2021-2022 की नामांकन प्रक्रिया शुरू होने के साथ ही जीत के लिए गुणा भाग तेज हो गए हैं। हालांकि अभी नामांकन प्रक्रिया का पहला ही दिन था शुक्रवार को भी कई पदो ंके प्रत्याशियों के परचे दाखिल होने हैं। किंतु बार अध्यक्ष पद के लिए इस बार भी सुशील भाटी एडवोकेट और रेशराम चौधरी एडवोकेट के एक बार फिर आमने सामने आ चुके हैं। हालांकि बार अध्यक्ष पद के लिए बृहस्पतिवार को 3 प्रत्याशियों ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया मगर मुख्य मुकाबला सुशील भाटी और रेशराम चौधरी के बीच ही माना जा रहा हैं। वर्ष 2020-2021 के वार्षिक चुनाव में भी रेशराम चौधरी, सुशील भाटी एडवोकेट चुनाव मैदान में थे हालांकि चुनाव की जीत का सेहरा मनोज भाटी एडवोकेट बोडाकी के सिर ही बंधा था। इस बार जीत का सेहरा किसके सिर बंधेगा यह तो भविष्य के गर्भ में छिपा है मगर सुशील भाटी और रेशराम चौधरी के बीच मुकाबाला कांटे का होने जा रहा है। सुशील भाटी एडवोकेट की बात की जाए तो वह एक मझे हुए और अधिवक्ताओं की आवाज बुलंद करने के वाले नेता माने जाते हैं। वर्ष 2000 में सुशील भाटी एडवोकेट दीवानी एंव फौजदारी बार एसोसिएशन में सहसचिव पद पर, वर्ष 2002-2003 में सचिव पद आसीन रहें। जब कि वर्ष 2013-2014 और वर्ष 2020-2021 के चुनावों में बार अध्यक्ष पद पर मामूली अंतर से चुनाव हार गए। बार अध्यक्ष पद के प्रत्याशी सुशील भाटी एडवोकेट ने ’’ विजन लाइव’’ डिजिटल मीडिया को बताया कि चैंबर विहीन अधिवक्ताओं को चैंबर दिलना उनकी पहला प्राथमिकता होगी। इसके साथ साथ पेयजल की सुविधा और अधिवक्ताओं के कल्याण के लिए तमाम कार्य करना उनका मूल उद्देश्य होगा। बार सचिव पद के प्रत्याशी पंडित राकेश शर्मा एडवोकेट ने भी दावा किया है कि चैंबर विहीन अधिवक्ता साथियों को चैंबर दिलाना पहली प्राथमिकता होगी। साथ ही सभी सम्मानित अधिवक्ताओं के लिए अपनी बार की निजी कैंटीन का निमार्ण कराया जाएगा। सभी सम्मानित अधिवक्ताओं के चैंबरर्स के बिजली बिल एनपीसीएल के द्वारा एक निर्धारित दर पर करावाए जाएंगे। साथ ही विभिन्न पदो ंके इन प्रत्याशियों ने भी बार हित, अधिवक्ता कल्याण, चैंबर निमार्ण,विकास और सुरक्षा आदि को मुद्दा बनाया है।