83 प्लॉट के लिए 17 गुना से भी अधिक हुए थे  आवेदन


 

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को बतौर आवंटन राशि मिलेंगे 173 करोड़



600 से 700 करोड़ का निवेश व 2000 को रोजगार की आस

 


विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा 

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की 83 औद्योगिक भूखंड योजना बेहद सफल रही।  इस योजना का ड्रा शुक्रवार को संपन्न हो गया। सभी प्लॉट एकमुश्त भुगतान पर आवंटित हुए। इससे ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को करीब 173 करोड़ रुपये की आमदनी होगी। 600 से 700 करोड़ रुपये का औद्योगिक निवेश होगा और 2000 युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे। इन भूखंंडों के लिए करीब 1450 आवेदन थे। प्लॉटों की संख्या से 17 गुना से भी अधिक आवेदन हुए। इनमें से अधिकतर आवेदकों ने एकमुश्त भुगतान का विकल्प चुना था। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण के निर्देश पर उद्योग विभाग  ने बीते 03 नवंबर को सेक्टर ईकोटेक वन एक्सटेंशन वन और इकोटेक -6 में 90 भूखंडों की योजना लांच की। इस योजना में आवेदन की अंतिम तिथि 25 नवंबर थी। इनमें से 83 भूखंड 4000 वर्ग मीटर से कम एरिया वाले थे। इन भूखंडों के लिए करीब 1450 आवेदन आए हैं, जिनमें  से 1350 से अधिक आवेदकों ने एकमुश्त भुगतान का विकल्प चुना। शुक्रवार को सुबह 11 बजे ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के ऑडिटोरियम में एसीईओ दीप चंद्र, जीएम वित्त एचपी वर्मा, इंडस्ट्री के प्रभारी ओसएडी संतोष कुमार, जीएम प्रोजेक्ट एके अरोड़ा, जीएम नियोजन मीना भार्गव की मौजूदगी में ड्रा शुरू हुआ। आवेदकों से ही पर्ची निकलवाई गई। पारदर्शिता के लिए विडियो रिकॉर्डिंग भी कराई गई। ड्रा शाम करीब छह बजे खत्म हुआ। ज्यादातर आवेदकों ने एकमुश्त भुगतान का विकल्प चुना था। इन सभी 83 भूखंडों के आवंटन उन आवेदकों के बीच ड्रा के जरिए हुए। प्राधिकरण के उद्योग विभाग के प्रभारी संतोष कुमार ने बताया कि इन उद्यमियों को आवंटन राशि जमा करने के लिए शीघ्र ही पत्र जारी कर दिए जाएंगे। प्लॉट की रकम मिलते ही लीज डीड करा दी जाएगी। उन्होंने बताया कि इन भूखंडों पर ग्रीन कैटेगरी (नॉन पोल्यूटिंग कैटेगरी) के सभी तरह के उद्योग लगेंगे।  इन सभी भूखंडों के आवंटित होने पर  प्राधिकरण को करीब 173 करोड़ रुपये की आमदनी होगी, जबकि 600 से 700 करोड़ रुपये के निवेश और 2000 लोगों को रोजगार का भी आकलन है। प्राधिकरण के एसीईओ दीप चंद्र ने कहा है कि 83 भूखंडों के लिए 1450 आवेदन आना और 1350  से अधिक आवेदन एकमुश्त भुगतान का होना यह दिखाता है कि ग्रेटर नोएडा उद्यमियों के निवेश के लिए पसंदीदा शहर बन चुका है। औद्योगिक भूखंडों के लिए 17 गुना से भी अधिक आवेदन प्राप्त हुए। देश-विदेश के उद्यमी ग्रेटर नोएडा में निवेश के लिए बहुत उत्सुक हैं।