विजन लाइव/ जेवर 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वागत के लिए जेवर तैयार है। वह गुरुवार को एशिया के सबसे बड़े नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट जेवर का शिलान्यास करेंगे।

शिलान्यास कार्यक्रम में प्रदेश के प्रभारी मंत्री जय प्रताप सिंह, सांसद डॉ. महेश शर्मा, सांसद सुरेंद्र नागर, जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह, नोएडा विधायक पंकज सिंह, दादरी विधायक तेजपाल नागर, एमएलसी श्रीचंद शर्मा के साथ आसपास के जनप्रतिनिधि मौजूद रहेंगे। शिलान्यास एवं पूजन कार्यक्रम के बाद प्रधानमंत्री जनसभा को संबोधित करेंगे। जनसभा में डेढ़ लाख से अधिक लोगों के आने की उम्मीद है। इसकी तैयारी पूरी हो गई है। मंच बनकर तैयार हो गया है। लोगों के बैठने के लिए पंडाल तैयार है। सुरक्षा व्यवस्था पूरी कर ली गई है। प्रधानमंत्री के स्पेशल प्रोटक्शन ग्रुप ने कार्यक्रम स्थल को अपने कब्जे में ले लिया है।

अधिकारियों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार सुबह 11:20 बजे भारतीय वायुसेना के हेलीकॉप्टर से जेवर के लिए रवाना होंगे। उनका हेलीकॉप्टर 11:50 बजे जेवर में भूमि पूजन स्थल पर बनाए गए हेलीपैड पर उतरेगा। जेवर में कार्यक्रम स्थल पर तीन हेलीपैड बनाए गए हैं। इनमें से एक हेलीपैड का इस्तेमाल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। दूसरे हेलीपैड पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और तीसरे हेलीपैड पर उनका सुरक्षा दस्ता उतरेगा। प्रधानमंत्री का हेलीपैड पर स्वागत करने के लिए 10 मिनट का समय निर्धारित किया गया है। दोपहर करीब 12 बजे एयरपोर्ट के लिए भूमिपूजन और शिलान्यास कार्यक्रम होगा।

जेवर एयरपोर्ट के आधारशिला रखने का कार्यक्रम दो हिस्सों में होगा। पहले हिस्से में एयरपोर्ट के लिए भूमि पूजन व शिलान्यास किया जाएगा। इसका सीधा प्रसारण भी होगा। इसके बाद जनसभा होगी। इसमें गौतमबुद्ध नगर, बुलंदशहर, गाजियाबाद, हापुड़, मेरठ, दिल्ली, अलीगढ़, फरीदाबाद, गुरुग्राम और पलवल से लाखों की संख्या में भाजपा समर्थकों के आने की उम्मीद है। जनसभा के बाद प्रधानमंत्री दिल्ली लौट जाएंगे।

दस फीट ऊंचे मंच से संबोधित करेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस मंच से जनता को संबोधित करेंगे, वह 132 फीट लंबा होगा। इसकी चौड़ाई 40 फीट होगी। यह मंच 10 फीट ऊंचा होगा। मंच को पूरी तरह से तैयार कर दिया गया है। मंच के सामने लोगों के बैठने के लिए पंडाल लगाए गए हैं।

लोगों के बैठने के लिए 32 ब्लॉक बने

जनसभा में आम जनता के बैठने के लिए 32 ब्लॉक बनाए गए हैं। इसके लिए 24 प्रवेश द्वार बनाए गए हैं। प्रवेश द्वार की संख्या बढ़ाई गई है ताकि किसी तरह की दिक्कत न हो। इसके अलावा दो वीआईपी ब्लॉक भी बनाए गए हैं। एक ब्लॉक में मीडिया के बैठने की व्यवस्था की गई है।

प्रदर्शनी में देख सकेंगे एयरपोर्ट का हर पहलू

जनसभा स्थल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए अलग-अलग रेस्ट रूम बनाए गए हैं। इसके अलावा प्रदर्शनी के लिए गैलरी बनाई गई है। इस गैलरी में एयरपोर्ट से जुड़ी चीजों को दिखाया जाएगा।

कार्यक्रम स्थल पर बनाया गया सेल्फी प्वाइंट

कार्यक्रम स्थल पर नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का एक सेल्फी प्वाइंट भी बनाया गया है, जिसमें रनवे पर उड़ता हुआ हवाई जहाज प्रदर्शित हो रहा है। पूरे कार्यक्रम स्थल पर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री और एयरपोर्ट के कटआउट भी लगाये गये हैं।

10 कुंतल फूलों से सजाया जा रहा कार्यक्रम स्थल

जेवर एयरपोर्ट के कार्यक्रम को ऐतिहासिक बनाने की तैयारी में पूरी अमला जुटा है। कार्यक्रम स्थल को फूलों से सजाया जा रहा है, जिसके लिए दस कुंतल फूल मंगाए गए हैं और बुधवार से ही कारीगर फूलों से मंच और कार्यक्रम स्थल को सजाने में जुटे थे।

दिल्ली से 70 किलोमीटर के दायरे में तीन एयरपोर्ट होंगे

जेवर एयरपोर्ट के निर्माण के बाद दिल्ली देश का पहला ऐसा शहर बन जाएगा, जिसके 70 किलोमीटर के दायरे में तीन एयरपोर्ट होंगे। दिल्ली में इंदिरा गांधी एयरपोर्ट संचालित है। गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरपोर्ट से सिर्फ घरेलू उड़ान संचालित होती हैं। जेवर में अंतराष्ट्रीय एयरपोर्ट बनेगा।

>