विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा
देश के प्रधानमंत्री द्वारा काले कृषि कानून को वापस लेने के फैसले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष इन्दर प्रधान ने कहा कि काले कृषि कानून को वापस लेना किसानों के संघर्ष और भारत के लोकतंत्र की जीत है। किसानों को आतंकवादी बता कर अपमानित करने वाली सरकार को आखिरकार किसानों के संघर्ष के आगे घुटने टेकने ही पड़े। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी अन्नदाताओं की इस लड़ाई में पहले दिन से ही उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है और आगे भी किसानों के हितों के लिए कार्य करती रहेगी।

समाजवादी पार्टी के जिला प्रवक्ता रोहित बैसोया ने कहा कि किसानों की मेहनत रंग लाई और उनके धैर्य और संघर्ष के आगे तानशाही भाजपा सरकार को झुकना पड़ा है। किसानों ने एक वर्ष से भी अधिक लड़ाई  लड़ी। इस दौरान अहंकारी सरकार ने जुल्मों की इंतहा कर दी, सैकड़ो किसानों की शहादत हुई। इसकी जिम्मेदारी लेते हुए देश के प्रधानमंत्री को किसानों से माफी मांगनी चाहिए।
>